Raj Express
www.rajexpress.co
इमोशनल ब्लैकमेल कर युवती से ठगे 30 लाख रूपए।
इमोशनल ब्लैकमेल कर युवती से ठगे 30 लाख रूपए।|Social Media
मध्य प्रदेश

टेक्नोलॉजी का दुरुपयोग कर इंजीनियर बना साइबर क्रिमिनल, लाखों ठगे

भोपाल,मध्यप्रदेश : साइबर क्राइम के मामलों के बीच एक और मामला आया सामने, इमोशनल ब्लैकमेल कर युवती से ठगे 30 लाख रूपए।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी समेत प्रदेश भर में साइबर अपराध के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है और मामले सामने आ रहे हैं, इसके चलते ही क्राइम ब्रांच की टीम ने सोशल मीडिया पर धोखाधड़ी करने के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। जिसकी शिकायत पीड़ित युवती द्वारा क्राइम ब्रांच सेल में दर्ज कराई गई थी।

क्या है मामला:

जानकारी के मुताबिक, यह मामला राजधानी से सामने आया है जिसके तहत आरोपी ने दिल्ली निवासी युवती को सोशल मीडिया फेसबुक पर रिक्वेस्ट भेजी थी और स्वयं को डॉक्टर बताया था, साथ ही दिल्ली, जयपुर तथा भोपाल के एम्स में नौकरी करना बताकर स्वयं को अविवाहित बताया था। जिसके बाद दोनों में दोस्ती बढ़ते ही आरोपी ने युवती को इमोशनल ब्लैकमेल कर दो सालों तक करीब 30 लाख रूपए की ठगी की। सामने आया है कि, युवती के परिवारजनों से बात करवाने की बात पर आरोपी स्वयं ही अपने मोबाइल पर वॉइस चेंजिग एप के माध्यम से युवती से अपनी माँ, बहन, भाभी तथा स्वयं के पिताजी की आवाज में बात कर लेता था तथा युवती को भरोसा दिलाने में कामयाब हो गया था। आरोपी ने युवती से पैसे ऐंठने के बाद दूरी बना ली थी जिससे युवती तनाव में आ गई थी।

युवती ने दर्ज कराई शिकायत :

इस मामले में युवती ने परिवारजनों को मामले की जानकारी दी, जिसके बाद परिवार जनों समेत युवती ने भोपाल आकर क्राइम ब्रांच के पास शिकायत दर्ज कराई। जिस पर कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच की टीम के पुलिस महानिदेशक/पुलिस महानिरीक्षक भोपाल जोन श्री आदर्श कटियार एवं डीआईजी भोपाल शहर श्री इरशाद वली ने योजना के अनुसार आरोपी को क्षेत्र के डीबी मॉल में बुलाकर युवती से बातचीत कराकर गिरफ्तार किया गया। वहीं आरोपी के खिलाफ धारा 419, 420, 506 भादवि तथा 66डी आइटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी द्वारा आरकेडीएफ कॉलेज से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशन से बी.ई. की डिग्री प्राप्त की गयी है तथा उसके पिताजी इटारसी में काश्तकार हैं। आरोपी द्वारा महिला कल्याण से संबंधित एक एनजीओ भी संचालित किया जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।