खरगोन जिले में आज कर्फ्यू में इतने घंटे ढील, 2 और 3 मई को रहेगा पूर्ण कर्फ्यू
खरगोन जिले में आज कर्फ्यू में इतने घंटे ढीलSocial Media

खरगोन जिले में आज कर्फ्यू में इतने घंटे ढील, 2 और 3 मई को रहेगा पूर्ण कर्फ्यू

खरगोन, मध्यप्रदेश। एमपी के सांप्रदायिक हिंसाग्रस्त खरगोन (Khargone) जिले में आज नौ घंटे की ढील दी गई है, कर्फ्यू में ढील के दौरान पुलिस कड़ी नजर रखे हुए हैं।

खरगोन, मध्यप्रदेश। एमपी के सांप्रदायिक हिंसाग्रस्त खरगोन (Khargone) जिले में स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है, इस बीच आज रविवार को खरगोन में लगे कर्फ्यू में ढील दी गई है, कर्फ्यू में ढील के दौरान पुलिस कड़ी नजर रखे हुए हैं।

रविवार को जिला प्रशासन ने कर्फ्यू में दी 9 घंटे की छूट :

बता दें, एमपी के खरगोन जिले में रविवार को जिला प्रशासन ने कर्फ्यू में 9 घंटे की छूट दी है, जिसके चलते खरगोन शहर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से भी लोग खरीदी करने बाजारों में पहुंचे, लोगों का कहना था कि कर्फ्यू में सख्ती होगी, इसके चलते ज्यादा खरीदारी कर रहे हैं।

वहीं, 2 और 3 मई को आगामी ईद सहित अन्य त्यौहारों को देखते हुए शहर में संपूर्ण अवधि में कर्फ्यू रहेगा। यह निर्णय शनिवार को हुई दोनों पक्षों की बैठक में निर्णय लिया गया था। खरगोन के अपर कलेक्टर ने बताया था कि परिस्थितियों के अनुसार प्रशासन द्वारा निर्णय में फेरबदल किया जा सकता है, साथ ही ईद पर घर में ही नमाज पढ़ी जाएगी। वहीं परशुराम जयंती पर निकलने वाले जुलूस पर भी प्रतिबंध रहेगा।

कल ADM सुमेर सिंह मुजालदा ने ट्वीट कर कहा था- खरगोन में 1 मई को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक कर्फ्यू खुला रहेगा, 2-3 मई को कर्फ्यू पूरी तरह से लागू रहेगा। जिन छात्रों की परीक्षा है उनको कर्फ्यू पास जारी किया जाएगा। ईद की नमाज घर पर ही अदा होगी, अक्षय तृतीया और परशुराम जयंती पर कोई कार्यक्रम नहीं होंगे।

जिले में रामनवमी पर हुई थी झड़प

आपको बताते चलें कि, खरगोन में रामनवमी पर जुलूस निकालने के दौरान कुछ लोगों ने पथराव कर दिया था, इसके बाद आगजनी और दंगे शुरू हो गए, पुलिस ने हिंसा के सिलसिले में अब तक कई लोगों को गिरफ्तार किया है, वहीं यहां के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और शांतिपूर्ण है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.