Damoh में बारिश न होने पर किया टोटका, लड़कियों को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया
Damoh में लड़कियों को निर्वस्त्र कर गांव में घुमायाSyed Dabeer Hussain - RE

Damoh में बारिश न होने पर किया टोटका, लड़कियों को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया

दमोह, मध्यप्रदेश: दमोह में टोटके के नाम पर ग्रामीणों ने अंधविश्वास को बढ़ावा देते हुए अमानवीयता की हदें पार कीं, बारिश के लिए लड़कियों को निर्वस्त्र गांव में घुमाया गया है।

दमोह, मध्यप्रदेश। जहां मध्य प्रदेश में फिर से मानसून सक्रिय होने के बाद बारिश का दौर शुरू हो गया है, वहीं ऐसे कुछ जिले भी हैं जहां अभी तक बारिश का टोटा बना हुआ है, ऐसे में यहां के लोग अच्छी बारिश के लिए टोने-टोटके का सहारा ले रहे हैं।

दमोह में अंधविश्वास की एक घटना आई सामने :

मध्यप्रदेश के दमोह जिले में अंधविश्वास की एक घटना सामने आई, बता दें कि ये घटना बुंदेलखंड क्षेत्र के बनिया गांव की है यहां बारिश न होने पर टोटका किया गया, बारिश के लिए लड़कियों को बिना कपड़ों के गांव की गलियों में घुमाया गया है।

दमोह जिले के एक गांव में लड़कियों से टोटके के नाम पर ग्रामीणों ने अंधविश्वास को बढ़ावा देते हुए अमानवीयता की हद पार कर दी, जिले के एक गांव में कम से कम छह लड़कियों को एक रिवाज के लिए निर्वस्त्र घुमाया गया, सूखा-ग्रस्त इलाके में बारिश के भगवान को खुश करने के लिए ऐसा किया गया है। महिलाओं का मानना है कि ऐसा करने से इतनी बारिश होती है कि माता की प्रतिमा का गोबर धुल जाता।

बारिश नहीं होने के कारण फसलें प्रभावित हो गई हैं। लोग पानी के लिए परेशान हैं, इसलिए गांव की महिलाओं ने यह टोटका किया है।

वन समिति अध्यक्ष

जिला कलेक्टर ने कहा-

दमोह के तेंदूखेड़ा ब्‍लाक के एक गांव में लड़कियों को निर्वस्‍त्र घुमाने के मामले में कलेक्टर ने कहा- ऐसे मामलों में प्रशासन केवल ग्रामीणों को इस प्रकार के अंधविश्वास की निरर्थकता के बारे में जागरूक कर सकता है और उन्हें समझा सकता है कि इस तरह की प्रथाओं से वांछित परिणाम नहीं मिलते हैं।

बाल आयोग ने दमोह कलेक्टर को भेजा नोटिस :

वहीं, इस मामले में राष्‍ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने स्‍वत: संज्ञान लेकर कलेक्‍टर को नोटिस जारी किया है, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य को नोटिस जारी कर 10 दिन के अंदर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने कलेक्टर से लड़कियों का आयु प्रमाण पत्र, जांच रिपोर्ट और अन्य दस्तावेज मांगे हैं। कलेक्टर ने जांच में तथ्य सामने आने के बाद कार्रवाई की बात कही है।

यह तो अंधविश्वास है। इस तरह लड़कियों को निर्वस्त्र कर नहीं घुमाया जा सकता। मैं इस मामले की जानकारी लेता हूं।

पुलिस अधीक्षक, दमोह

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co