दमोह: राष्ट्रपति को CM ने भेंट की शॉल व प्रतीक चिन्ह के रूप में गोंड कलाकृति
मोह जिले के ग्राम सिंग्रामपुर में आयोजित कार्यक्रम Social Media

दमोह: राष्ट्रपति को CM ने भेंट की शॉल व प्रतीक चिन्ह के रूप में गोंड कलाकृति

दमोह, मध्यप्रदेश। आज मध्यप्रदेश के दमोह जिले के ग्राम सिंग्रामपुर में राज्य-स्तरीय जनजातीय सम्मेलन और सिंगौरगढ़ किले के संरक्षण कार्य का शिलान्यास कार्यक्रम आयोजित है।

दमोह, मध्यप्रदेश। आज मध्यप्रदेश के दमोह जिले में राज्य-स्तरीय जनजातीय सम्मेलन और सिंगौरगढ़ किले के संरक्षण कार्य का शिलान्यास कार्यक्रम आयोजित है। इस बीच राष्ट्रपति आज सुबह हेलीकाप्टर से मध्यप्रदेश के जिले के ग्राम सिंग्रामपुर पहुंचे, जहाँ मध्यप्रदेश की राज्यपाल और मुख्यमंत्री सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने उनकी अगवानी की, इसके बाद उन्होंने रानी दुर्गावती की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर राज्यपाल, मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री तथा मंत्री भी उपस्थित रहे।

बता दें कि मध्यप्रदेश के दमोह जिले के ग्राम सिंग्रामपुर में आयोजित राज्य-स्तरीय जनजातीय सम्मेलन और सिंगौरगढ़ किले के संरक्षण कार्य का शिलान्यास कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के मुख़्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को शॉल व प्रतीक चिन्ह के रूप में गोंड कलाकृति भेंट की है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा-

राज्य-स्तरीय जनजातीय सम्मेलन और सिंगौरगढ़ किले के संरक्षण कार्य का शिलान्यास कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- "मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में राज्य के विकास के साथ जनजातीय भाई-बहनों के कल्याण के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं, मैं उन्हें इस समग्र विकास के प्रयास हेतु अपनी शुभकामनाएं देता हूं" राष्ट्रपति ने कहा- जब सुशासन की बात होती है तो हमें पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी का स्मरण होता है। उन्होंने जनजातीय कल्याण और विकास हेतु मंत्रालय का गठन किया था। यह मंत्रालय अपना कार्य आगे बढ़ा रहा है।

जनजातीय भाई-बहनों का विकास और कल्याण देश के विकास एवं कल्याण से जुड़ा हुआ है। मैं मानता हूं कि जनजातीय भाई-बहनों का जब तक विकास नहीं होगा, तब तक देश के विकास को पूर्णता नहीं मिलेगी

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद-

राज्यपाल और सीएम ने छात्र-छात्राओं को किया पुरस्कृत :

मिली जानकारी के अनुसार इस कार्यक्रम में राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने कक्षा 10वीं व 12वीं में अच्छे अंक से पास करने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया। छात्रों को शंकर शाह पुरस्कार व छात्राओं को रानी दुर्गावती पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

वहीं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर कहा- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी का पुनः मध्यप्रदेश की धरती पर हृदय से स्वागत करता हूँ, अभिनंदन करता हूँ। आगे मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि हमारे जनजातीय समुदाय के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति दी जाएगी जिससे ये लगातार आगे बढ़ते रहें, उन्हें उच्च शिक्षा के लिए किराए का कमरा लेना पड़े, तो उनका किराया हमारी सरकार भरेगी जिससे किसी की पढ़ाई बाधित न हो। अत्यंत प्रतिभाशाली जनजातीय बच्चों की कोचिंग की व्यवस्था हम कर रहे हैं। उनकी पढ़ाई की फीस भी माता-पिता नहीं, हमारी सरकार भरेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co