MP में 15 फरवरी से चलाया जाएगा "दस्तक अभियान" होंगे यह परीक्षण और कार्य
MP में 15 फरवरी से चलाया जाएगा "दस्तक अभियानPriyanka Yadav-RE

MP में 15 फरवरी से चलाया जाएगा "दस्तक अभियान" होंगे यह परीक्षण और कार्य

भोपाल, मध्यप्रदेश : कोरोना संकट के बीच मध्यप्रदेश में 15 फरवरी से 20 मार्च तक "दस्तक अभियान"। 15 फरवरी से घर-घर बीमार बच्चों का पता लगाकर इलाज शुरू किया जाएगा।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में महामारी कोरोना का संकट पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है, बता दें कि अभी भी वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के मामलों में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है वहीं इस बीच लगातार अपील की जा रही कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए परस्पर उचित शारीरिक दूरी रखने का संकल्प लें, सावधानी बरतते हुए खुद को घरों में रखना और लोगों के संपर्क में न आना ही सबसे बेहतर विकल्प है।

मध्यप्रदेश में चलाया जाएगा दस्तक अभियान :

वहीं दूसरी तरफ कोरोना संकट के बीच कई लोग अन्‍य बीमारी के चपेट में आ रहे हैं, इस बीच खबर मिली है कि मध्यप्रदेश में 15 फरवरी से 20 मार्च तक दस्तक अभियान चलाया जाएगा, जिसमें बच्चों की घर बैठे जांच की जाकर उनकी बीमारी का पता लगाया जाकर इलाज शुरू किया जाएगा। बच्चे का लगातार फालोअप भी लिया जाएगा।

15 फरवरी से घर-घर बीमार बच्चों का पता लगाकर इलाज शुरू किया जाएगा :

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया 15 फरवरी से 20 मार्च तक मध्यप्रदेश में दस्तक अभियान चलाया जाएगा, जिसमें पांच साल से कम उम्र के बच्चों मे प्रमुख रूप से होने वाली बीमारियों की पहचान कर इलाज किया जाएगा, बीमार बच्चों को पता लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाएगी। ताकि शिशु मृत्यु दर में कमी लाई जा सके।

दस्तक अभियान :

"मप्र में 15 फरवरी से 20 मार्च तक चलने वाले इस अभियान के तहत घर-घर जाकर 5 वर्ष तक के बच्चों का नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार किया जाएगा"

बता दें कि दस्तक अभियान के दौरान समुदाय में बीमार बच्चों की पहचान की जाएगी, ज्यादा बीमार पाए गए बच्चों को हॉस्पिटल में भर्ती किया जाएगा और सामान्य बीमार पाए जाने पर घर पर ही इलाज दिया जाएगा। दस्तक अभियान के तहत कुपोषित या कम वजन के बच्चों को भी चिन्हित किया जाएगा, कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भेजा जाएगा।

  • इस दौरान गंभीर कुपोषित, बच्चों को विटामिन ए, जन्मजात विकृतियों की पहचान, बच्चों में हीमोग्लोबिन की जांच, एनीमिया से पीड़ित बच्चों का उपचार आदि कार्य इस अभियान के तहत होंगे।

यह परीक्षण और कार्य होंगे
यह परीक्षण और कार्य होंगेSocial Media

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co