कोरोना व वायरल के बाद शहर में डेंगू ने दी दस्तक, जनसेवा अस्पताल में निकले 10 मरीज
कोरोना व वायरल के बाद शहर में डेंगु ने दी दस्तकRaj Express

कोरोना व वायरल के बाद शहर में डेंगू ने दी दस्तक, जनसेवा अस्पताल में निकले 10 मरीज

नागदा जं., मध्यप्रदेश : डेंगू के पैर पसारने से शहर में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है। स्वास्थ्य विभाग ने एलआईजा टेस्ट के लिए मरीजों के सेंपल लेकर उज्जैन भेजे।

नागदा जं., मध्यप्रदेश। कोरोना से लोग उबरे भी नहीं कि वायरल के प्रकोप के चलते शहर के सभी अस्पतालों में मरीजों की कतारें लग रही थी। अब डेंगू के पैर पसारने से शहर में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है। जनसेवा अस्पताल में कार्ड टेस्ट में लगभग 10 मरीज डेंगू के संदिग्ध पाए गए हैं। शासकीय अस्पताल से दल ने जाकर उनकी डेंगू की एलआईजा टेस्ट के लिए सेंपल भेजकर मरीजों के घर के आसपास निवासरत लोगों की भी जांच करवाई जाकर शहर में भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा सर्वे कराया जा रहा है।

पिछले डेढ़ वर्ष से कोरोना का प्रकोप झेल रहे क्षेत्रवासियों को राहत मिलते ही वायरल का प्रकोप से जूझ रहे हैं। शहर के सभी छोटे-बड़े अस्पतालों में मरीजों की कतारें लग रही हैं। बुधवार को जनसेवा अस्पताल में लगभग 10 मरीजों का कार्ड टेस्ट में डेंगू के लक्षण पाए गए। कार्ड टेस्ट से डेंगू की पुष्टि नहीं होती है। एलआईजा जांच होने के बाद ही डेंगू की पुष्टि होती है। इसको लेकर शासकीय अस्पताल के एक दल ने बुधवार को जनसेवा अस्पताल में भर्ती 10 संदिग्ध मरीजों का ब्लड टेस्ट लेकर जांच के लिए उज्जैन भेजा है। जब तक वहां पुष्टि नहीं होती तब तक उन्हें मरीजो को डेंगू का मरीज नहीं माना जा सकता है। मरीजों का टेस्ट लेने के बाद दल ने उनके निवास स्थान के आसपास निवासरत लोगों की भी जांच की जा रही है। पिछले 15 दिनों से स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहर में वार्डवाईज सर्वे कराया जा रहा है। इसमें जिन घरों के पास साफ पानी भरा है उस पर तेल डालकर वहां के लोगों को समझाईश दी जा रही है। दल द्वारा शहर व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी सर्वे किया जा रहा है। ताकि लोगों को डेंगू व मलेरिया व चिकन गुनिया से बचा सके। इस बीमारियों के बचाव के लिए दल ने व्यक्तिगत प्रचार के साथ पेंपलेट भी वितरित किए हैं।

इनका कहना :

जनसेवा अस्पताल में कार्ड टेस्ट में 10 डेंगू के संदिग्ध मरीज की सूचना मिली थी। अस्पताल से एक दल को भेजकर सभी के एलआईजा टेस्ट के लिए सेंपल लेकर उज्जैन भेज दिए हैं। मरीजों के घर के आसपास निवासरत लोगों की भी जांच कराई जाएगी। लार्वा सर्वे 15 दिन पूर्व से चल रहा है।

डॉ. कमल सोलंकी, बीएमओ, शासकीय अस्पताल, नागदा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co