इंदौर : स्मार्ट सिटी में पनपने लगी है लेडी डॉन बनने की चाह
स्मार्ट सिटी में पनपने लगी हैं लेडी डॉन बनने की चाहNeha Shrivastava - RE

इंदौर : स्मार्ट सिटी में पनपने लगी है लेडी डॉन बनने की चाह

इंदौर, मध्य प्रदेश : रविवार को खुले आम एक फीट का चाकू लेकर लोगों को डराने धमकाने की वारदात ने इस बात की चुगली कर दी है कि अब तो महिलाएं भी किसी से कम नहीं हैं। कई युवतियां तो लेडी डान बनना चाहती हैं।

इंदौर, मध्य प्रदेश। पाश्चात्य संस्कृति की नकल करते हुए महिलाएं अब खुले आम नशा भी करने लगी हैं। कई ठिये तो ऐसे हैं जहां युवतियों केवल सिगरेट पीने ही आती हैं। हुक्काबार में भी युवतियों की संख्या कम नहीं है। इसके साथ ही शराब, ड्रग्स आदि जैसे नशे भी युवतियां करने लगी हैं। बाय फ्रेंड रखने और महंगे शौक पालने के कारण कई युवतियां क्राइम जगत में भी कदम रखने लगी हैं। सेक्स रैकेट से लेकर ब्लेकमेलिंग और हत्या जैसे मामलों में भी महिलाएं शामिल होने लगी हैं। महिलाओं का अवैध शराब कारोबार और गुंडो को पालने, चैन स्नेचिंग करने जैसे अपराध कोई नई बात नहीं है। रविवार को खुले आम एक फीट का चाकू लेकर लोगों को डराने धमकाने की वारदात ने इस बात की चुगली कर दी है कि अब तो महिलाएं भी किसी से कम नहीं हैं। कई युवतियां तो लेडी डान बनना चाहती हैं।

अपराध जगत में महिलाएं कोई नई बात नहीं :

महानगर बन रहे इंदौर को स्मार्ट शहर बनाने की तैयारी चल रही है। इसके बीच ही अब महिलाओं के अपराध जगत में दखल के मामले भी सामने आ रहे हैं। समाज के लिए ये बेहद खतरनाक संकेत है। महिलाओं के महंगे शौक और हाई क्लास जीवन जीने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहना ही महिलाओं को अपराध जगत में ढकेल रहा है। रुक्मणी नगर में प्रेमी के साथ मिलकर कांस्टेबल ज्योति प्रसाद शर्मा और नीलम की बेटी ने माता-पिता को मार डाला। ड्रग्स वाली आंंटी के बारे में अभी भी कई सनसनीखेज रहस्य सामने आ रहे हैं। पूरे प्रदेश को हिलाने वाले हनीट्रेप को भी लोग भूल नहीं सकते। हाल ही मे तुकोगंज पुलिस ने गोमा की फेल में छापा मारकर सट्टे का अड्डा चलाने वाली आशाबाई पति विजय उर्फ बिज्जू सहित 17 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही कई अपराधों में महिलाएं शामिल रहीं। कुछ अरसा पहले बाणगंगा की कुख्यात महिला अपराधी टुन्ना नेपालन को जिलाबदर किया था। इसके बाद छत्रीपुरा की लेडी डान कही जाने वाली शीला मामी पर भी जिलाबदर की कार्रवाई हुई। गंगा मामी का पति गंगाधर राठौर उर्फ गंगा मामा कुख्यात अपराधी था। उसका कत्ल होने के बाद गंगा मामा के साथियों ने इस विरासत को सम्हालने के लिए शीला राठौर उर्फ मामी को कहा तो वह भी अपराध की दुनिया में कूद गई। कई कत्ल के मामलों में महिलाएं भी आरोपी बन रही हैं।

हत्या के मामलों में महिलाएं भी आरोपी :

  • फरवरी 2015 में एनटीसी मैदान में एनटीसी मैदान में दिलीप पिता फूलचंद गढ़वाल की हत्या कर दी गई। पुलिस ने पड़ताल की तो ये पता चला कि एक किशोरी ने भी अपने तीन साथियों के साथ चाकू चलाए थे। वह लेडी डान बनना चाहती थी।

  • अप्रैल में मारुति पैलेस में फेमिदाबी ने कुख्यात गुंडे रवि उर्फ चंपिया की कुल्हाडी से हत्या कर दी। रवि फेमिदाबी की पत्नी बनकर रह रही थी,रवि ने फैमिदाबी की बेटी की इज्जत पर हाथ डाला तो ये वारदात कर डाली।

  • मूसाखेड़ी में महेश पिता श्यामलाल पटेल को घेरकर मार डाला। इसमें महिला सहित सात आरोपियों पर केस दर्ज हुआ।

  • खातीवाला टैंक में टिंबर व्यवसायी जसवीरसिंह छाबड़ा के घर पारदी गैंग ने डकैती डाली और छाबड़ा की हत्या कर दी। कुछ अरसा पहले ही कोर्ट ने इस डकैती -हत्याकांड का फैसला सुनाया है। उसमें कुल 11 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। सबसे गंभीर बात ये है कि आरोपियों में तीन महिलाएं भी शामिल हैं। इस बहुचर्चित कांड की छानबीन के दौरान ये बात सामने आई थी कि पारदी गैंग की वारदातों में महिलाएं रैकी करती थी और पुरुष सदस्य वारदातों को अंजाम देते थे।

  • मार्च 2014 में चंदननगर में सुशीलाबाई ने अपने पुरुष मित्र के साथ मिलकर 50 रुपए के विवाद में पड़ोसी प्रदीप प्रजापत की हत्या कर दी।

  • सिमरोल में रेखा पति नारायण को संगीता पति नानू, काली पति जीवन, सुनीता पति भारतसिंह ने एक पुरुष रिश्तेदार के साथ मिलकर मार डाला, मारपीट के बाद चूहा मार दवा भी खिला दी थी दो हजार के लेनदेन को लेकर था विवाद।

बहू ने प्रेमी के साथ मिलकर किया गबन :

रेसकोर्स रोड पर एक प्रसिद्ध डाक्टर ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई कि उनकी बहू ने प्रेमी के साथ मिलकर उनका लाखों रुपए का सामान अफरा-तफरी कर दिया। पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया और ये मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। इसी तरह कुछ अरसे पहले एक प्रतिष्ठित परिवार की बहू भी सुर्खियों में आई थी। प्रापर्टी को लेकर उसने अपने ससुराल वालों पर ही प्रताड़ित करने के आरोप लगाए थे, जबकि ससुराल वालों का कहना था कि उसने नकली हस्ताक्षर कर प्रापर्टी ही बेच डाली थी।

महिला को हत्या के मामले में फांसी :

श्रीनगर में बैंक अधिकारी की पत्नी, बेटी और सास की लूट के लिए हत्या के मामले में पुलिस ने नेहा वर्मा, मनोज और राहुल को गिरफ्तार किया। इस बहुचर्चित मामले का कोर्ट ने फैसला सुनाया, कोर्ट ने हत्या के आरोप में नेहा सहित तीनों आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई थी। संभवत: प्रदेश में पहली बार किसी महिला को हत्या के आरोप में फांसी की सजा सुनाई गई थी।

बहू की हत्या के कई मामले :

बहू की हत्या में सास की गिरफ्तारी के कई मामले सामने आ चुके हैं। खातीवाला टैंक में भूमि हत्याकांड को तो लोग आज तक भूल नहीं पाए हैं। भूमि की हत्या करने के बाद उसकी लाश के टुकड़े कर लाश को बोरी में भरकर फेंक दिया गया था। इस जघन्य हत्याकांड में भूमि की सास धनवंतरि सहित तीन को आरोपी बनाया गया था।

सोलंकी नगर में रहने वाली नरेंदर कौर ने भी अपनी बहू मंजीत कौर की हथौड़े से हत्या कर दी और उसके बाद उसकी लाश को अपनी पड़ोसन की मदद से टीबी अस्पताल के बाहर फेंक आई थी। पुलिस ने सास नरेंदर कौर को गिरफ्तार किया था।

अवैध शराब के धंधे में महिलाओं का दखल :

आबकारी विभाग के मुताबिक शहर में अवैध शराब के धंधे में महिलाओं का दखल तेजी से बढ़ रहा है। शहर में करीब 30 गैंग ऐसे हैं जो अवैध शराब का धंधा करते हैं और उनका संचालन महिलाएं कर रही हैं। खजराना, निरंजनपुर, पटेलनगर, टिगरिया बादशाह, कंजर मोहल्ला, भिश्ती मोहल्ला, राऊ, असरावद खुर्द आदि ऐसे इलाके हैं जहां पर ज्यादातर अवैध शराब का कारोबार महिलाएं कर रही हैं। ये भी सच है कि इस मामले में अवैध शराब बेचने वाली महिलाएं जिलाबदर भी हो चुकी हैं।

सैक्स रैकेट का संचालन :

शहर के कई बदनाम इलाकों में सैक्स रैकेट चलाने वाली महिलाओं की भी कमी नहीं है। कई महिलाएं तो ऐसी हैं जो शराफत का चोला ओढ़कर ये सेक्स रैकेट चला रही हैं। कुछ सैक्स रैकेट चलाने वाली महिलाएं तो खुले आम हरकतें करती देखी जा सकती हैं।

चेन स्नेचिंग से लेकर चोरी तक :

शहर में महिलाएं चेन स्नेचिंग की वारदातें करने में भी पीछे नहीं हैं। हाल ही में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें महिलाओं ने चेन स्नेचिंग की वारदातों को अंजाम दिया है। कुछ दुकानों पर चोरी करने के मामले में भी पुलिस महिला आरोपियों को पकड़ चुकी है। सराफा और अन्य कुछ दुकानों पर चोरी के मामले में तो इन महिला अपराधियों के सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को मिले हैं। विवाह समारोह के दौरान छोटे बच्चों से चोरी करवाने के मामले में पूर्व में कई महिलाओं को बंदी बनाया जा चुका है। पचौर इलाके से तो बाकायदा महिलाओं की गैंग शहर में आती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co