आज से बैंड बाजा बारात की धूम, मैरिज गार्डनों में होगी रौनक
देवोत्थान एकादशी 2021Social Media

आज से बैंड बाजा बारात की धूम, मैरिज गार्डनों में होगी रौनक

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : देवोत्थान एकादशी का पर्व आज रविवार और कल सोमवार को दो दिन मनाया जाएगा। इसी के साथ सहालग का सीजन आरंभ हो जाएगा।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। देवोत्थान एकादशी का पर्व आज रविवार और कल सोमवार को दो दिन मनाया जाएगा। इसी के साथ सहालग का सीजन आरंभ हो जाएगा। रविवार को सीजन का पहला सहालग होने के साथ ही बैंड, बाजा, बारात के साथ मैरिज गार्डनों में रौनक दिखाई देने लगेगी। सहालग की तिथियों में घोड़ी की बुकिंग हो जाने से इन दिनों में शहर में तांगे भी नजर नहीं आएंगे।

रविवार को दिन भर एकादशी तिथि है और सोमवार को उदयकालीन एकादशी होने के कारण कुछ लोग सोमवार को भी देवोत्थान एकादशी पर देवताओं का पूजन करेंगे। देवोत्थान के बाद शहर में 21, 28 नवंबर और 11 दिसंबर को सहालग के सबसे ज्यादा मुहूर्त हैं। कोरोना संक्रमण में पिछले 3 सहालग में शादियां कम संख्या में हुई हैं। इस साल नवंबर और दिसंबर के मुहूर्त में शादियां ज्यादा हैं। इसकी वजह से कुछ मुहूर्त में घोड़ियों की कमी हो गई है, इसकी वजह से घोड़े और तांगों में जोते जाने वाले घोड़ों को भी लोग तलाश रहे हैं। 21 नवंबर और 11 दिसंबर में सहालग ज्यादा हैं और इसमें ही घोड़ी कम हो रही है। मुहूर्त ज्यादा होने से घोड़ी की बुकिंग लौटाना पड़ रही है। इसके बाद लोग मुरैना तक घोड़ी की बुकिंग कराने के लिए संपर्क कर रहे हैं। यहां बता दें कि दूल्हे के लिए घोड़े की बजाय सिर्फ घोड़ी की मांग होती है, लेकिन घोड़ी नहीं मिलने से घोड़े की भी बुकिंग हो रही है। शहर में 150 से ज्यादा घोड़े और घोड़ी शादी वाले शहर में शादी में घोड़े और घोड़ी देने वालों की संख्या सीमित है। शहर में लगभग 70 घोड़ी और 80 से ज्यादा घोड़े हैं, लेकिन शादियों में घोड़ी की मांग ज्यादा होती है। शहर में 21 नवंबर और 11 दिसंबर को घोडिय़ां नहीं मिल रही हैं। 2100 से 5100 में घोड़ी जिन दिनों में सहालग ज्यादा उन दिनों में घोड़ी की बुकिंग 5100 रुपए तक में की जा रही है। फिलहाल यहां बुकिंग न होने के बाद कुछ लोगों ने मुरैना में भी घोड़ी किराए पर देने वालों से संपर्क किया है।

100-150 के पांच गन्ने :

देवोत्थान एकादशी की पूजा पर नई सब्जियां और फलों के साथ गन्नों का भी पूजन में विशेष महत्व है, जिसके लिए शहर में जगह-जगह गन्नों के ढेर लगाकर विक्रय किया जा रहा है। हर घर में पूजन के लिए गन्ने जाते हैं, जिसका फायदा उठाते हुए गन्ने विक्रेता 100 से 150 रुपए के पांच गन्ने बेच रहे हैं। उधर बाजार में सब्जियों के दाम भी बढ़े हुए हैं। जानकारों के मुताबिक सहालग के दिनों को छोड़कर सब्जी के दाम जल्दी ही लुढ़केंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co