देवास: प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले
देवास: प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले|kratik sahu-RE
मध्य प्रदेश

देवास: प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले

देवास में प्रतिदिन कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। डॉक्टरों के साथ-साथ देश की प्रतिष्ठित कम्पनी सनफार्मा स्यूटीकल में भी कोरोना के मरीज मिले।

Kratik Sahu

राजएक्सप्रेस। देवास में कोरोना ने पिछले दिनों जहां एक डॉक्टर को अपनी चपेट में लिया था अब नर्सिंग कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल को भी अपनी चपेट में ले लिया है। अब डॉक्टर और कॉलेज के प्रिंसिपल भी कोरोना की जद में आ रहे हैं। 17 मई की रिपोर्ट में 5 मरीज पॉजिटिव मिले हैं। जिसमें शांतिपुरा में रहने वाले 40 वर्षीय और 37 वर्षीय व्यक्ति इसी इलाके में रहने वाला एक 15 वर्ष का किशोर, नर्सिंग कॉलेज की वाइस प्रिंसिपल और मेढ़कीचक का रहने वाला 25 वर्षीय युवक शामिल है। अब तक 65 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसमें से 21 लोग अस्पताल से पूरी तरह स्वस्थ होकर घर पहुंच चुके हैं।

वहीं प्रशासन 3 मरीजों को इंदौर के आंकड़ो में शामिल कर रहा है, प्रशासन के आंकड़ों के हिसाब से पॉजिटिव मरीजों की संख्या 62 हुई है। वहीं अभी तक 7 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

देवास में स्स्थित देश की प्रतिष्ठित कम्पनी सनफार्मा स्यूटीकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड के कर्मचारियों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। भारतीय मजदूर संघ जिला उपाध्यक्ष एवं ड्रग्स एण्ड सनफार्मा मजदूर संघ देवास के महामंत्री ज्ञानसिंह ठाकुर ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा सनफार्मा कंपनी में रविवार को पहुंच गया है। रविवार को जो 5 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनमें मेंढकीचक निवासी युवक सनफार्मा देवास में ब्लाक ए में कार्यरत है। दिनांक 12 मई 2020 तक वह कम्पनी में उपस्थित रहा था। वह ठेकेदारी में नौकरी करता है तो ये बताना मुश्किल है कि वह किन-किन श्रमिक लोगों के सम्पर्क में आया है। अत:सनफार्मा में कार्यरत श्रमिकों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए प्रशासन सैम्पलिंग करवाएं।

आपको बता दें कि सनफार्मा प्रबंधन ने इस मामले को दबाने का प्रयास का किया है जो कि बहुत ही निंदनीय है। सनफार्मा के दो और ऐसे प्लांट हैं जहां कोरोना संक्रमण के मरीज मिले है। एक प्लांट सील भी है। उसके बावजूद कम्पनी बे रोकटोक चल रही है। ठाकुर ने कलेक्टर से मांग की है कि आगे से किसी भी प्रकार की जनहानि एवं कोरोना महामारी की विस्फोटक स्थिति उत्पन्न न हो इसके लिए प्रशासन उचित कार्यवाही करे।

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ श्रीकान्त पाण्डेय ने मध्यप्रदेश पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 की विभिन्न धाराओं में निहित शक्तियों का उपयोग करते हुए दो क्षेत्रों को कंटेनमेंट एरिया घोषित करने का आदेश जारी किया है। जारी आदेशानुसार देवास शहरी/ग्रामीण क्षेत्र में पाए गए दो सस्पेक्टेड केस क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। जिसमे सोनिया पीटर, निवासी जी. एन. एम. टी सी देवास घर को एपिसेंटर घोषित करते हुये। जी एन एम बिल्डिंग परिसर देवास तक सभी घरों की परिधि में आने वाले क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है। इस क्षेत्र के समस्त घरों का सर्वे निर्धारित प्रपत्र में अनिवार्यत किया जावेगा । इससे लगे 3 किलोमीटर की परिधि के अतिरिक्त क्षेत्र को बफर जोन भी घोषित किया है । इसी प्रकार सचिन पिता राजेश कुमावत निवास मेंढकीचक, देवास घर को एपिसेंटर घोषित करते हुए 3 किलोमीटर की परिधि में आने वाले क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co