दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज के करीबी अफसर नीरज वशिष्ठ पर लगाए ये आरोप
दिग्विजय सिंह ने लगाए ये आरोपSocial Media

दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज के करीबी अफसर नीरज वशिष्ठ पर लगाए ये आरोप

भोपाल, मध्यप्रदेश : प्रदेश में आयकर छापों के मामले में सफाई पेश करने के लिए आज एमपी कांग्रेस की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई गई, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का आरोप...

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच काले धन के इस्तेमाल के मामले में पड़े इनकम टैक्स रेड के दस्तावेजों में कांग्रेस के कई बड़े नेताओं के नाम सामने आने के बाद मध्य प्रदेश की सियासत में हड़कंप मच गया है, वहीं इस मामले में सफाई पेश करने के लिए आज मध्यप्रदेश कांग्रेस की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई गई, मध्य प्रदेश में आयकर छापों के केस में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दिया बयान।

बता दें कि आयकर छापों में कांग्रेस नेताओं को राशि देने के मामले में कांग्रेस ने अपनी स्थिति स्पष्ट की है, प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सबसे करीबी अफसर नीरज वशिष्ठ ही पैसों का लेन-देन का काम देखते हैं। सन 2013 में आयकर ने छापे मारे थे, जिसमें कम्प्यूटर की जांच में यह जानकारी मिली थी कि 12 और 29 नवंबर 2013 को नीरज वशिष्ठ ने गुजरात के मुख्यमंत्री को 10 करोड़ रुपए दिए।

दिग्विजय सिंह ने कहा

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस हर तरह की जांच का सामना करेगी, कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता किसी से डरने वाले नहीं हैं। ई टेंडरिंग की जांच करने वाले अधिकारियों को डराने के लिए भाजपा यह सब कर रही है। ई टेंडरिंग घोटाला, व्यापम घोटाला, सिंहस्थ घोटाला, पेंशन घोटाला जैसे 15 साल मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की जॉंच कमलनाथ जी ने ईओडब्ल्यू व एसआईटी द्वारा प्रारंभ कर दी थी।

वहीं भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर में किसान सम्मेलन के दौरान मंच से हास परिहास के वातावरण में कहा था कि राज्य की तत्कालीन कमलनाथ सरकार गिराने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ था। इस बयान पर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि कमलनाथ सरकार की कार्रवाई से डर गई थी भाजपा, 'इसीलिए गिराई सरकार'।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co