यूजर्स ने किया ट्रोल
यूजर्स ने किया ट्रोल|Social Media
मध्य प्रदेश

राम मंदिर मुद्दे पर दिग्गी के बेतुके बयान पर यूजर्स ने किया ट्रोल

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एक बार फिर राम मंदिर को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। अयोध्या मसले पर दिग्विजय ने दिया विवादित बयान।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह हमेशा अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। एक बार फिर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह राम मंदिर को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि अयोध्या में रामलला के मंदिर का निर्माण शासकीय कोष से नहीं होना चाहिए।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा :

विश्व का हर हिन्दू भगवान राम को ईश्वर का अवतार मानता है और मंदिर निर्माण में सहयोग करेगा। विहिप ने मंदिर निर्माण में जो चंदा उगाया, वो उसे अपने पास रखें और उसका उपयोग समाज की कुरीतियों को समाप्त करने में खर्च करें।

श्री सिंह ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि रामालय ट्रस्ट में सभी शंकराचार्य और रामानंदी संप्रदाय से जुड़े अखाड़ा परिषद के सदस्य ही हैं और जगतगुरू स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती सबसे वरिष्ठ होने के नाते उसके अध्यक्ष हैं। रामालय ट्रस्ट के माध्यम से ही रामलला का मंदिर निर्माण होना चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान राम का मंदिर हिन्दुओं के धर्माचार्यों द्वारा ही बनाना चाहिए। राजनैतिक संगठनों द्वारा संचालित संगठनों के द्वारा नहीं। भगवान राम सबके हैं। उनकी जन्मभूमि पर निर्माण की जिम्मेदारी रामालय ट्रस्ट को ही देना चाहिए। उच्चतम न्यायालय के कुछ समय पहले आए फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर राम मंदिर को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। कई यूजर्स ने किया दिग्गी को ट्रोल

शिवकुमार नाम के युवक ने लिखा है कि-

आप मत घबराइए क्योंकि राममंदिर आपका मुद्दा नहीं है और वैसे भी राममंदिर काल्पनिक हैं राममंदिर किस के पैसे से बनेगा किस के पैसे से नहीं बनेगा उससे तुम्हें क्या मतलब है खामोश रहिये।

दूसरे यूजर्स ने कहा-

तुमसे चंदा मांगने कोई नहीं आएगा तुम मत घबराओ।

30 साल पुराना है विवाद :

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का रिएक्शन आया है। उन्होंने कहा कि, 30 साल पुराना विवाद जो पहले राजनीतिक नहीं था, उसे राजनीतिक बनाया गया, अब उसका पटाक्षेप हो गया है। उन्होंने कहा कि, वो सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं।

दिग्विजय सिंह की केंद्र को सलाह-इस तरह से हो राम मंदिर का निर्माण

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co