Raj Express
www.rajexpress.co
जिला अस्पताल में गंदगी का आलम
जिला अस्पताल में गंदगी का आलम|Ganesh Dunge
मध्य प्रदेश

बुरहानपुर : जिला अस्पताल में गंदगी का आलम

बुरहानपुर, मध्यप्रदेश : जिला अस्पताल में शनिवार को दिनभर बदबू फैलती रही, असहनीय बदबू से अस्पताल में मरीजों और मरीजों को देखने के लिए आए लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया।

Ganesh Dunge

Ganesh Dunge

हाइलाइट्स

  • जिला अस्पताल में गंदगी से फैली बदबू

  • बदबू से अस्पताल में मरीजों को देखने के लिए आए लोगों का सांस लेना मुश्किल

  • जिला अस्पताल में आने वाले हजारों मरीजों के स्वास्थ्य का मुद्दा है

  • ग्राउंड फ्लोर पर स्थित प्रसूता वार्ड के आसपास के हालात बहुत ज्यादा खराब है

  • महिलाओं सहित मरीजों को बदबू के बीच समय बिताना पड़ता है

राज एक्सप्रेस। जिला अस्पताल में दिनभर बदबू फैलती रही। असहनीय बदबू से अस्पताल में मरीजों और मरीजों को देखने के लिए आए लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया। मरीजों और परिजन ने नाक पर कपड़ा रख लिया। जब तक अस्पताल में रहे नाक ढंके रखा। कई लोग अस्पताल से निकलकर बाहर खुली हवा में आ गए। लोगों का जी मचलाया तो उल्टियां भी हो गई। ये एक दिन का नहीं है। अस्पताल में हर समय बदबू का सामना मरीजों और अन्य लोगों को करना पड़ रहा है।

जिला अस्पताल के सभी वार्डों में ये हाल :

अस्पताल में गंदगी से लोग परेशान हो रहे है अस्पताल में बदबू वार्डों के बाहर भी राहत नहीं मिलती है। अस्पताल के अंदर हर तरफ गंदगी और बदबू के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन रोज सफाई करवाता है, लेकिन क्या कारण है कि, बदबू कम नहीं हो रही है, या तो अस्पताल में जरूरत से ज्यादा गंदगी हो रही है या फिर सफाई में लापरवाही बरती जा रही है। कब तक मरीज और लोग बदबू से परेशान होते रहेगे। केमिकल का भी असर नहीं जिला अस्पताल में हर दिन फिनाइल और केमिकल से सफाई की जा रही है, इसके बावजूद बदबू कम नहीं हो रही है।अस्पताल प्रबंधन बदबू फैलने के कारणों का भी पता नहीं लगा रहा है।

जिला अस्पताल में गंदगी का आलम
जिला अस्पताल में गंदगी का आलम
Ganesh Dunge

हजारों मरीजों के स्वास्थ्य का मुद्दा :

अगर बदबू फैलने का कारण पता लगाकर उस पर काम किया जाएं तो बदबू कम होगी। इस पर काम करना जरूरी है। क्योंकि ये हर दिन जिला अस्पताल में आने वाले हजारों मरीजों के स्वास्थ्य का मुद्दा है। जिला अस्पताल में मरीज ठीक होने के लिए आते हैं, लेकिन बदबू के कारण और ज्यादा बीमार पड़ जाते हैं। खुली नाक से जिला अस्पताल में पांच मिनट भी रहना मुश्किल है। बिना नाक ढंके अस्पताल में नहीं रहा जा सकता है। अस्पताल के गेट के अंदर प्रवेश करते ही तेज बदबू नाक में घुस जाती है। अस्पताल प्रबंधन बदबू फैलने के कारणों का भी पता नहीं लगा रहा है। इससे लोग परेशान हो जाते हैं बाहर निकलने तक बदबू के कारण उनकी हालत खराब हो जाती है।

लोगों ने कहा बदबू सहन नहीं हो रही है, बहुत तेज बदबू है। अस्पताल प्रबंधन क्या कर रहा है। क्या उन्हें बदबू नहीं आती है। डॉक्टर और कर्मचारी भी बदबू में रहने के आदी हो चुके हैं। जिला अस्पताल में हर दिन हजारों मरीज भर्ती हो रहे हैं। ग्राउंड फ्लोर पर स्थित प्रसूता वार्ड के आसपास के हालात बहुत ज्यादा खराब है। महिलाओं सहित मरीजों को बदबू के बीच समय बिताना पड़ता है। इसके अलावा सर्जिकल वार्ड, मेडिकल वार्ड सहित अन्य वार्डों में भी हालात रहते हैं। हजारों मरीजों के स्वास्थ्य का सवाल होने के बावजदू अस्पताल प्रबंधन लापरवाही बरत रहा है। जिला अस्पताल का पूर्व में दिया गया सफाई का ठेका समाप्त होने के चलते गंदगी व बदबू आ रही है, जल्द ही नवीन ठेके हेतु निविदा आमंत्रित की जायेगी जिससे समस्या दूर होगी।