‘गंदगी भारत छोड़ो- मध्य प्रदेश’ अभियान में इंदौर ने मारी बाजी, बना नंबर 1

इंदौर, मध्यप्रदेश: एक बार फिर इंदौर नंबर वन साबित हुआ है जहां मध्यप्रदेश के गंदगी भारत छोड़ो अभियान की रैंकिंग में अपनी पहचान बनाई है।
‘गंदगी भारत छोड़ो- मध्य प्रदेश’ अभियान में इंदौर ने मारी बाजी, बना नंबर 1
गंदगी भारत छोड़ो- मध्य प्रदेश’ अभियान में इंदौर ने मारी बाजीSocial Media

इंदौर,मध्यप्रदेश। प्रदेश में महामारी का प्रकोप जहां बढ़ते संक्रमण के साथ अब भी जारी है तो वहीं संक्रमण काल के बीच कई सकारात्मक खबरें भी सामने आती जा रही हैं इस बीच ही एक बार फिर इंदौर नंबर वन साबित हुआ है जहां मध्यप्रदेश के गंदगी भारत छोड़ो अभियान की रैंकिंग में अपनी पहचान बनाई है। जिसकी घोषणा बीते दिन सोमवार को ही नगरीय विकास और आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने करते हुए सोशल मीडिया पर इंदौर को बधाई दी।

अभियान के तहत लोगों से ऑनलाइन लिए थे फीडबैक

इस संबंध में, जहां स्वच्छ शहर इंदौर ने इस अभियान में नंबर वन की रैंकिंग बनाई है। वहीं इसे लेकर अपर आयुक्त संदीप सोनी ने बताया कि, अगस्त में 15 दिन चलाए गए इस अभियान में ऑनलाइन 5.77 लाख लोगों से फीडबैक लिया गया। जिसमें 5 लाख से अधिक जनसंख्या वाले निकायों में इंदौर प्रथम रहा। इसके अलावा छोटे शहरों में देवास, पीथमपुर व राघोगढ़ अव्वल रहे। साथ ही 1 से 5 लाख जनसंख्या में पीथमपुर, 25 हजार से एक लाख में राघोगढ़ और 25 हजार से कम की श्रेणी में मूंगावली ने बेहतर प्रदर्शन किया।

राजधानी भोपाल की बिगड़ी सफाई व्यवस्था

इस संबंध में, प्रदेश की राजधानी की बात करे तो सफाई व्यवस्था के मामले में प्रदेश में ही चौथे स्थान पर है। बताते चलें कि, राज्य सरकार द्वारा पहली बार कराई गई रैंकिंग में राजधानी की हकीकत सामने आई है। जहां इंदौर पहले, उज्जैन दूसरे और ग्वालियर तीसरे स्थान पर है। जबलपुर को पांचवा स्थान मिला है। बता दें कि, जिसकी वजह में निगम के अमले द्वारा सफाई व्यवस्था में ढिलाई बरतने की बात सामने आई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co