वापस आ रहे प्रवासियों को जिला प्रशासन उपलब्ध करा रहा खाद्य सामग्री
वापस आ रहे प्रवासियों को जिला प्रशासन उपलब्ध करा रहा खाद्य सामग्री|Neha Shrivastava-RE
मध्य प्रदेश

वापस आ रहे प्रवासियों को जिला प्रशासन उपलब्ध करा रहा खाद्य सामग्री

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते देश में लागू लॉकडाउन के दौरान दूसरे प्रदेशों से यहाँ आने वाले लोगों को जिला प्रशासन खाद्य सामग्री उपलब्ध करा रहा है।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के चलते देश में लागू लॉकडाउन के दौरान दूसरे प्रदेशों से यहाँ आने वाले लोगों को जिला प्रशासन खाद्य सामग्री उपलब्ध करा रहा है।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार जिला कलेक्टर तरुण पिथोड़े के मार्गदर्शन में अन्य प्रदेशों से भोपाल जिले के मिसरोद, खजूरी बाईपास और मुबारकपुर सीमाओं पर वहां से गुजरने वाले पैदल राहगीरों के लिए खाद्य सामग्री के साथ पुराने जूते-चप्पल के साथ-साथ नए चप्पलें भी खरीद कर उपलब्ध कराई गई है। भोपाल रहवासी संघों से पुराने जूते-चप्पल के इकठ्ठा करने के साथ नए चप्पलों को भी आम रास्तों से अपने घरो को जा रहे नागरिकों को उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके लिए जगह-जगह स्टाल लगाकर जूता, चप्पल, सेंडिल उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

इस भीषण गर्मी में सड़कों पर नंगे पैर, टूटी चप्पल पहनकर जाने वालों को गर्मियों का सामना ना करना पड़े, इसके लिए भोपाल के कई समाज सेवी संगठन आगे आये हैं। इसके साथ ही स्वयं सेवी संगठन सेवा संघ द्वारा इन जगहों पर नाश्ता, बिस्किट्स, भोजन के साथ पैकेट में जूस भी उपलब्ध कराएं जा रहे हैं। इसी के साथ पीने के पानी की बोतल, पानी के टैंकर भी रख दिये गए हैं।

कलेक्टर तरूण पिथोड़े ने बताया कि भोपाल के रास्तों से लगातार महाराष्ट्र, गुजरात, बिहार, उत्तरप्रदेश, कर्नाटक से लोग पैदल आ रहे और जा रहे हैं, इनको धूप गर्मी से बचाने के लिए सभी सामान की उपलब्धता कराई जा रही है। यह सभी समान सहयोग रहवासी संघों, सामाजिक संगठनों, एनजीओ और जिला प्रशासन के माध्यम से एवं अन्य संगठन के द्वारा उपलब्ध कराया गया है। जिला प्रशासन द्वारा शहर की सीमा में आ रहे, श्रमिकों के लिए बसों को भी रखा गया है जिससे उन्हें घरों और राज्यों की सीमाओं तक छोड़ा जा सकें।

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया हैं। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co