नेहरू शताब्दी चिकित्सालय के डॉक्टर
नेहरू शताब्दी चिकित्सालय के डॉक्टर|Shashikant Kushwaha
मध्य प्रदेश

डाक्टर साहब की भाषा दबंगो जैसी, मरीज को देख जान लेने की दे डाली धमकी

सिंगरौली, मध्य प्रदेश: नेहरू शताब्दी चिकित्सालय के डाक्टर पर लगा गाली-गलौज व हाथ-पैर तोड़ने की धमकी का आरोप। पुलिस को है तहरीर का इंतजार।

Shashikant Kushwaha

सिंगरौली, मध्य प्रदेश। जयंत चौकी क्षेत्र में स्थित एनसीएल का नेहरू शताब्दी चिकित्सालय हमेशा विवादों में घिरा रहता है। कभी मेडिकल स्टाफ की मनमानी तो कभी डाक्टर साहब का निर्देश की मुख्य दुकान से दवाई खरीदे और फला पैथॉलाजी से चेकअप कराए। ताजा प्रकरण नेहरू शताब्दी चिकित्सालय के डाक्टर साहब से जुड़ा हुआ है, ईलाज कराने आए मरीज को अपशब्द बोलने व मारने-पीटने की धमकी देने का आरोप डाक्टर संतोष मिश्रा पर लगा है। जिसकी शिकायत जयंत चौकी में मरीज द्वारा कराई गई है। यह कोई पहला मामला नहीं है डॉक्टर संतोष के खिलाफ पूर्व में भी ऐसे कृत्य को लेकर पुलिस के समक्ष शिकायत की जा चुकी है । आपको बताते चलें कि नेहरू चिकित्सालय में पदस्थ डॉक्टर संतोष मिश्रा आए दिन विवादों में रहते हैं संबंधित मामले में एनसीएल प्रबंधन कार्यवाही के नाम पर लीपापोती करते नजर आ रहा है।

क्या है मामला :

सिंगरौली जिले से लगे हुए उत्तर प्रदेश के सोनभद्र सीमा पर बसी जनता के लिए ईलाज का एकमात्र उम्मीद नेहरू शताब्दी चिकित्सालय हैं परंतु उक्त अस्पताल में डॉक्टर संतोष मिश्रा इस कदर रंगबाज हुए कि ईलाज कराने आई महिला से गाली-गलौज पर उतारू हो गए। मामला यह है कि शक्तिनगर ज्वालामुखी कॉलोनी निवासी पीड़ित परिवार मंगलवार को इलाज हेतु नेहरू शताब्दी चिकित्सालय गया हुआ था जहां डॉक्टर संतोष मिश्रा से कोई बात पूछने पर डॉक्टर संतोष मिश्रा का पारा इतना गरम हुआ कि मारपीट और गाली गलौज पर उतारू हो गए।

डॉक्टर के द्वारा बदतमीजी करने का यह कोई पहला मामला नहीं है :

डॉक्टर संतोष मिश्रा के दबंगई का आलम यह रहा कि मरीज के साथ आई महिला के साथ भी बदतमीजी पर उतारू हो गए और मरीज के बेटे संदीप कुमार राय को डॉक्टर मिश्रा ने हाथ पैर तोड़ने की भी धमकी दे डाली। पीड़ित परिवार द्वारा जयंत चौकी में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस द्वारा जांच कर उचित कार्यवाही करने की बात पर पीड़ित परिवार न्याय की उम्मीद में अपने घर वापस आ गया।

इसके पूर्व में हुई घटना का अगर जिक्र करें तो डॉक्टर साहब के द्वारा पूर्व में भी मरीज के परिजनों के साथ में अभद्र व्यवहार गाली गलौज व मारपीट करने का प्रयास किया जा चुका है जिसकी भी शिकायत जयंत चौकी में की जा चुकी है।

डाक्टर साहब के बिगड़े बोल की चर्चा चट्टी-चौराहों पर जोरो पर है और हर आम खास आदमी यह बात कर रहा है कि भगवान के रूप डाक्टर भी ऐसी भाषा बोलेंगे तो गरीब जनता ईलाज के लिए कौन सा दरवाजा खट-खटाएगी। एनसीएल ने नेहरू शताब्दी चिकित्सालय का निर्माण क्षेत्र में सरल सुलभ उचित ईलाज के लिए कराया था किंतु ऐसे स्टाफ के व्यवहार से एनसीएल की साख को भी बट्टा लग रहा है। की

डॉक्टर की अभद्रता का शिकार पत्रकार भी :

जिस तरह से घटनाएं सामने आई हैं गौर करने वाली बात है कि डॉक्टर संतोष मिश्रा के द्वारा अभद्र व्यवहार आमजन के अलावा पत्रकार भी सुरक्षित नहीं नेहरू अस्पताल के कवरेज करने गए पत्रकार के साथ भी डॉक्टर साहब ने अभद्र व्यवहार किया था।पार्किंग में हुई इस घटना को वहां पर खड़े सैकड़ों लोगों ने देखा था की एक डॉक्टर किस तरह से अपनी सीमा को पार करते हुए गाली गलोज व अभद्र व्यवहार किया।

संबंधित मामले पर एनसीएल प्रबंधन से जब बात की गई , प्रबंधन से किए गए सवाल में पूछा लगातार नेहरू अस्पताल आए दिन जिस तरह से घटनाएं सामने आ रही हैं उस पर एनसीएल प्रबंधन की तरफ से क्या कार्यवाही की जाएगी ? उपरोक्त किए गए सवाल का जवाब ना मिलने के कारण प्रबंधन की तरफ से आधिकारिक बयान नहीं मिल सका बहरहाल एक बात तो साफ है कि मामले को लेकर प्रबंधन गंभीर नहीं दिख रहा है आखिर कब तक लोग नेहरू अस्पताल की बर्बरता का शिकार होते रहेंगे।

विगत दिन एनसीएल कर्मचारी के साथ भी हो चुकी है मारपीट :

विगत दिवस की अगर बात करें तो नेहरू अस्पताल परिसर में फिल्मी स्टाइल में एनसीएल के अमलोरी परियोजना के कर्मचारी के साथ में फिल्मी स्टाइल में मारपीट हो चुकी है जिसमें अस्पताल परिसर में तैनात प्राइवेट सुरक्षा कर्मी ने एनसीएल कर्मी के साथ मारपीट की है जिस की भी जांच जयंत पुलिस के द्वारा की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co