दूरदर्शन से ही होगी ऑनलाइन पढ़ाई
दूरदर्शन से ही होगी ऑनलाइन पढ़ाई|Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

नई शिक्षा नीति में कोरोना संकट के बीच दूरदर्शन से ही होगी ऑनलाइन पढ़ाई

भोपाल, मध्यप्रदेश। अध्यापन का बिगड़ा ढांचा सुधारने के लिए अब प्राचार्यो की जुलानिया के समक्ष अग्नि परीक्षा।

Shahid Kamil

भोपाल, मध्यप्रदेश। सेकेंडरी कक्षाओं की पढ़ाई में लोक शिक्षण संचालनालय के अफसरों को अयोग्य मानते हुए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने अब पूरे अध्यापन का जिम्मा अपने हाथों में लिया है। मौजूदा कोरोना संकटकाल में दूरदर्शन के माध्यम से ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जाएगी। जब परिस्थितियां सामान्य होंगी तो विद्यालय में पठन-पाठन होगा। नई शिक्षा नीति के तहत शासन ने यह तय कर दिया है। मंडल के इस प्रयोग में साफ है कि बोर्ड चेयरमैन के समक्ष प्राचार्य से लेकर शिक्षकों की भी प्रतिदिन बड़ी अग्निपरीक्षा होगी।

नई शिक्षा नीति के तहत मंडल ने स्पष्ट किया है कि-

पठन एवं पाठन के लिए प्रत्येक विषय को 10 यूनिट में बैठकर 2 सप्ताह में एक यूनिट के लिए मध्य प्रदेश दूरदर्शन पर ऑडियो वीडियो पाठ प्रसारित किए जाएंगे। समस्त ऑडियो वीडियो पार्ट मंडल एवं शासन की वेबसाइट फेसबुक एवं यूट्यूब पर उपलब्ध रहेंगे। विद्यालय के शिक्षक एवं विद्यार्थी अपनी सुविधा अनुसार डाउनलोड कर इसका उपयोग कर सकेंगे। प्रत्येक अध्याय की पाठ्यपुस्तक ऑडियो-वीडियो सामग्री एवं प्रश्न बैंक माध्यमिक शिक्षा मंडल के ऐप पोर्टल पर उपलब्ध रहेंगे। कोरोना संकट का प्रभाव कम होने पर जब सरकारी स्कूलों में नियमित पठन-पाठन होगा तब विद्यालय समय पर पूरी सीडी तैयार करते हुए मध्य प्रदेश दूरदर्शन पर मंडल द्वारा प्रसारित किए जाने वाले ऑडियो वीडियो पार्ट के समय चक्र को ध्यान में रखते हुए उनका लाभ अध्यापन कार्य में लेंगे। अध्यापन का सतत मूल्यांकन कराने के लिए प्रत्येक विषय को 10 यूनिट में बांट कर दो यूनिट अध्यापन करवा कर होम असाइनमेंट से मूल्यांकन किया जाएगा।

विद्यार्थी घर बैठकर प्राप्त कर सकेगा प्रश्न बैंक

मंडल स्पष्ट किया है कि विद्यार्थी मोबाइल पर ही घर बैठकर प्रत्येक यूनिट के लिए प्रश्न बैंक प्राप्त कर सकेगा। इसके अलावा किताब शिक्षक मित्र परिवार के किसी सदस्य आदि की सहायता से उत्तर तैयार कर सकेगा उत्तर विद्यार्थी की हस्तलिपि से होना अनिवार्य होगा। इसे होम असाइनमेंट कहा जाएगा। मूल्यांकन संबंधित विद्यालय का शिक्षक करेगा। शिक्षक विद्यालय के प्रति यूनिट के प्राप्तांक विद्यार्थी बार माध्यमिक शिक्षा मंडल के अपर डाउनलोड करेगा। विद्यार्थियों द्वारा मोबाइल ऐसे प्रश्न पत्र प्राप्त करने की कठिनाई आने की दशा में संस्था के प्राचार्य को यह सुनिश्चित करना होगा कि नियत समय पर संबंधित विद्यालय पोर्टल से प्रश्न पत्र प्राप्त कर विद्यार्थियों को उपलब्ध कराएं।

विद्यार्थियों के होमवर्क में भी रहेगी पारदर्शिता

होम असाइनमेंट से मोबाइल ऐप में यह व्यवस्था रहेगी कि प्रत्येक विद्यार्थी को भिन्न-भिन्न प्रश्न पत्र मिल सके। मंडल स्तर पर प्रत्येक विषय के हर अध्याय के लिए कृष्ण बैंक बनाए जाएंगे, प्रत्येक प्रश्न बैंक में वस्तुनिष्ठ ज्ञान परख विषय आत्मक एवं समझ परख प्रश्न होंगे। होम असाइनमेंट के मूल्यांकन की गुणवत्ता सतत रूप से बढ़ाने के लिए उपलब्ध शिक्षकों में से मंडल द्वारा कुछ टीचरों को चयनित कर विषय वार मार्गदर्शन कर बनाए जाएंगे मंडल द्वारा समय-समय पर जारी कार्यक्रम के अनुसार पूर्व सूचना देकर विभिन्न विद्यालयों में किए गए असाइनमेंट और उनके मूल्यांकन की गुणवत्ता का परीक्षण करके गुणवत्ता में सुधार करेंगे स्टॉप विद्यार्थी का मूल्यांकन सभी अनुमानों के आधार पर किया जाएगा कक्षा नवी एवं 11वीं की वार्षिक परीक्षा विद्यालय स्तर पर ही दी जाएगी। वार्षिक परीक्षा के लिए विद्यालय चाहे तो मंडल स्तर पर संधारित प्रश्न बैंक पोर्टल के माध्यम से प्रश्नपत्र आश्रित कर सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co