पानी नहीं बचाया तो आगे इसी को लेकर होगी लड़ाई : डॉ. सिंह
पानी नहीं बचाया तो आगे इसी को लेकर होगी लड़ाई : डॉ. सिंह|Social Media
मध्य प्रदेश

पानी नहीं बचाया तो आगे इसी को लेकर होगी लड़ाई : डॉ. सिंह

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : पूर्व मंत्री डॉ. सिंह गिरते जल स्तर को बचाने 5 से करेंगे पदयात्रा। अवैध उत्खनन नहीं रुका तो आने वाली पीढ़ी को पानी खरीदकर पीना पड़ेगा।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश में लगातार नदियों में हो रहे रेत उत्खनन के कारण जल स्तर गिरता जा रहा है। न्यायालय से लेकर हर जगह लड़ाई लड़ी लेकिन इसके बाद भी सरकार रेत के अवैध उत्खनन पर रोक नहीं लगा पाई है। जल स्तर जिस तेजी से नीचे गिर रहा है उसको बचाने के लिए अब पूर्व मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ग्वालियर, भिंड और मुरैना जिले के गांवो में जनजागरण अभियान चलाएंगे।

पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने बताया कि पदयात्रा 5 सितंबर को लहार से गांधी प्रतिमा पर माल्र्यापण कर शुरू होगी जो 11 सितंबर तक चलेगी। पदयात्रा के शुभारंभ मौके पर पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह मौजूद रहेगें। रविवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए डॉ. सिंह ने बताया कि भारत सरकार ने नीति आयोग ने भी जल संकट को लेकर गहरी चिंता जताई है। नीति आयोग ने अपनी रिपोर्ट में वर्ष 2026 में भारी जल संकट की चेतावनी दी है। इस जल संकट में ग्वालियर, भिंड और मुरैना जिला शामिल है। उन्होंने बताया कि नदियो में रेत के अवैध उत्खनन को लेकर वह लम्बे समय से लड़ रहे है ओर जब देखा कि सरकार इस मामले में कुछ नहीं कर रही तो अब उन्होंने अपने लोगों के साथ मिलकर उक्त जल संकट से निबटने के लिये जहां मेग्सेसे पुरस्कार विजेता राजेन्द्र सिंह से मिलकर रूपरेख तय की ओर उन्हीं के अनुसार जन जागरण करने का फैसला किया है। पांच सितंबर से जन जागरण अभियान शुरू करेगें। इस दौरान वह प्रतिदिन 11 सितंबर तक लगभग 18 से 20 किलोमीटर पैदल चलकर रास्ते में आने वाले गांवों में पहुंचेगें ओर रात्रि विश्राम जहां स्थान मिलेगा वहां करेगें। जनजागरण 11 सितंबर को दतिया जिले के सेवढा स्थित सिंध नदी के तट पर प्रसिद्ध तीर्थ सनकुंआ पर अपनी यात्रा समाप्त करेंगे।

डॉ. सिंह ने बताया कि 6 सितंबर को राज्य सभा सांसद विवेक तन्खा, 7 सितंबर को कम्प्यूटर बाबा, 8 सितंबर को राजेन्द्र सिंह और मोहन प्रकाश, 9 सितंबर को सज्जन सिंह वर्मा एवं अन्य साथी, 10 सितंबर को उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री बृजेन्द्र प्रताप एवं 11 सितंबर को एकता परिषद के प्रमुख पी राजगोपाल उर्फ राजू भाई एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी शामिल हो सकते हैं। पत्रकार वार्ता में अपेक्स बैंक के पूर्व चेयरमेन अशोक सिंह, वरिष्ठ कांग्रेस नेता वासुदेव शर्मा, जिला पंचायत भिंड के अध्यक्ष रामनारायण हिंडोलिया और विनोद कटारे आदि मौजूद थे।

करीब 40 फीट पानी नीचे चला गया :

डॉ. गोविंद सिंह ने बताया कि कुछ साल पहले करीब 110 फीट पर बोरिंग कराने पर पानी आ जाता था, लेकिन अब स्थिति यह है कि पानी का स्तर करीब 50 फीट ओर नीचे चला गया है। अगर जल स्तर गिरने की यही गति रही तो कुछ सालो में आने वाली पीढ़ी को पीने के लिए पानी खरीदना पड़ेगा। अब हालात यह है कि ऐसे गांवो में भी पानी संकट है जहां से नदियां गुजरती है, इसके पीछे कारण यह है कि नदियों से रेत का अवैध उत्खनन जिस तरीके से हो रहा है उसके कारण नदियां रेत विहीन हो गई हैं। डॉ. सिंह ने बताया कि नदियो में अगर रेत नहीं रहेगा तो पानी का स्तर ऊपर नहीं हो सकता, क्योंकि रेत ही पानी को सोखता है जिससे जल स्तर बढ़ता है।

सिंधिया जनसेवा के लिए अपने स्वार्थ के लिए गए भाजपा में :

डॉ. सिंह ने बताया कि वैसे यह जनजागरण यात्रा गैर राजनीतिक है और राजनीति के बारे में कोई बात भी आज नहीं करना चाहता, लेकिन जब सवाल किया है तो उसका जवाब देना जरूर है। सिंधिया अपने निजी स्वार्थ के लिए भाजपा में गए है न कि जनसेवा के लिए। अगर उनको जनसेवा करना थी तो क ांग्रेस शासनकाल में वह कितनी बार मुख्यमंत्री से इस संबंध में मिले तो बताएं? हां अपने निजी हित के लिए जरूर मिलते रहे हैं।

सरकार भाजपा की कार्यवाही क्यों नहीं करती :

भाजपा नेताओं द्वारा आपके ऊपर रेत का अवैध उत्खनन करने का आरोप लगाया जा रहा है? इस सवाल पर पूर्व मंत्री डॉ. सिंह ने भाजपा सरकार से ही सवाल करते हुए बताया कि आपको कार्यवाही करने से कौन रोक रहा है। सरकार आपकी है, अगर मै एवं मेरे परिवार का कोई सदस्य रेत के अवैध उत्खनन काम में लिप्त है तो कार्यवाही करने से कौन रोक रहा है। मैं तो जब कांग्रेस की सरकार थी तब भी रेत के अवैध उत्खनन को लेकर आवाज उठाई थी और आज भी उठा रहा हूं। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि जिनको व्यवसाय करना है तो राजनीति छोड़ कर करें, लेकिन भाजपा नेता तो रेत के अवैध उत्खनन में लिप्त हैं और आज भी लहार क्षेत्र में प्रतिदिन एक हजार ट्रक रेत के निकल रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co