Raj Express
www.rajexpress.co
चाचा-भतीजे के बीच जमीनी विवाद पर चली गोली
चाचा-भतीजे के बीच जमीनी विवाद पर चली गोली|Pankaj yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर : चाचा-भतीजे के बीच जमीनी विवाद पर चली गोली, ड्राइवर की मौत

महाराजपुर, छतरपुर: थाना क्षेत्र में एक चाचा भतीजे का कई महीनों से जमीनी विवाद चल रहा था। इसी विवाद के चलते भतीजे ने बीती रात कट्टे से गोली चला दी, चाचा के ड्राईवर की मौके पर ही मौत हो गई।

Priyanka Yadav

Pankaj Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। थाना क्षेत्र में एक चाचा और भतीजे के बीच कई महीनों से जमीनी विवाद चल रहा था। इसी विवाद के चलते भतीजे ने बीती रात कट्टे से गोली चला दी ये गोली चाचा (संजेश नायक) के ड्राइवर (मनोज साहू ) को लगी उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

चाचा के ड्राइवर की मौत
चाचा के ड्राइवर की मौत
Pankaj yadav

दोनों के बीच करीब 11 बजे कहा सुनी हो रही थी-

जानकारी के मुताबिक महाराजपुर निवासी संजेश नायक और उसके भतीजे अश्विनी नायक के बीच लंबे अर्से से जमीनी विवाद चला आ रहा है। बीती रात करीब 11 बजे नगर के पुराने बाजार में दोनों के बीच कहा सुनी हो रही थी और इसी दौरान भतीजे अश्विनी ने बौखलाहट में कट्टे से गोली चला दी जो कि संजेश के ड्राईवर मनोज साहू को लग गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके साथ ही अश्विनी ने अपने चाचा को भी जान से मारने की धमकी दी और मौके से भाग गया।

जानकारी के अनुसार-

महाराजपुर निवासी संजेश नायक अपने विवाद को सुलझाने भतीजे के पास गया था लेकिन वहां विवाद सुलझने की जगह कहा सुनी हो गई और अश्विनी ने कट्टे से गोली चला दी। घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरु की है।

हत्यारोपी के अलावा सफाई निरीक्षक सहित 3 के खिलाफ मामला दर्ज

पारिवारिक जमीनी विवाद इतना बढ़ा कि इसमें एक युवक की जान चली गई। पुलिस ने दोनों पक्षों पर मुकदमा कायम कर लिया है। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों पक्ष फरार हैं। उधर मृतक का पोस्टमार्टम कराकर शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया।

सूत्रों ने बताया कि नगर के सब्जी बाजार के पास रहने वाले यदुनंदन नायक दो भाई हैं। यदुनंदन का भाई आलोक नायक ग्वालियर में रहता है। बीते दिनों आलोक जब महाराजपुर आए उस दौरान जमीन को लेकर भतीजे अश्विनी नायक से विवाद हो गया था। बीते दिनों आलोक जब महाराजपुर आए उस दौरान जमीन को लेकर भतीजे अश्विनी नायक से विवाद हो गया था।

आलोक नायक का पक्ष चचेरे भैया और स्वच्छता निरीक्षक संजेश नायक ने लिया था। इसी बात को लेकर अश्विनी का संजेश नायक से विवाद हो गया था। बीती रात संजेश नायक छतरपुर से अपने कुछ साथियों के साथ अश्विनी के घर पहुंचे और उसके दरवाजों में पैर मारकर गेट खुलवाने लगे जैसे ही दरवाजा खुला वैसे ही संजेश ने अश्विनी की मारपीट शुरु कर दी। चूंकि संजेश के साथ दो तीन लोग और थे इसलिए उनसे बचने के लिए अश्विनी ने कट्टे से गोली चला दी। रात 11 बजे की इस घटना में गोली संजेश के ड्राईवर मनोज साहू को लगी। गोली लगने से अफरा-तफरी का माहौल हो गया।

सूत्रों के मुताबिक तत्काल मनोज को जिला अस्पताल लाया गया लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। उधर गोली मारने के बाद अश्विनी मौके से फरार हो गया। मारपीट की घटना के बाद अश्विनी के पिता यदुनंदन नायक थाने पहुंचे जहां उन्होंने घटना के बारे में जानकारी दी जिस पर पुलिस ने स्वच्छता निरीक्षक संजेश नायक सहित दो तीन अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 452, 427, 336 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं अश्विनी नायक के खिलाफ धारा 302 आईपीसी व 25/27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।