शहर के सबसे संवेदनशील इतवारा इलाके में आसानी से मिल जाते हैं मादक पदार्थ

भोपाल, मध्य प्रदेश : पुराने शहर का सबसे संवेदनशील इतवारा इलाका इन दिनों मादक पदार्थों की तस्करी और अवैध शराब की खरीद-फरोख्त का अड्डा बन हुआ है।
शहर के सबसे संवेदनशील इतवारा इलाके में आसानी से मिल जाते हैं मादक पदार्थ
इतवारा इलाके में आसानी से मिल जाते हैं मादक पदार्थसांकेतिक चित्र

हाइलाइट्स :

  • खुलेआम हो रही मादक पदार्थों और अवैध शराब की बिक्री

  • अजायबघर का मैदान भी बना अपराधियों का अड्डा

भोपाल, मध्य प्रदेश। पुराने शहर का सबसे संवेदनशील इतवारा इलाका इन दिनों मादक पदार्थों की तस्करी और अवैध  शराब की खरीद-फरोख्त का अड्डा बन हुआ है। इतवारा चौकी से चंद कदम दूर पुलिस की नाक के नीचे गांजा-अफीम जैसे मादक पदार्थ खुलेआम बेचे जा रहे हैं। ड्राई-डे हो या लॉक डाउन जैसी तालाबन्दी, देशी और अंग्रेज़ी शराब आवाज़ दे-देकर लोगों को बेची जाती है। हैरानी वाली बात यह है कि थाना पुलिस या चौकी पर तैनात पुलिकर्मी पूरी तरह से अवैध व्यापार से अनजान हैं। मादक पदार्थों की तस्करी और अवैध शराब की खरीद-फरोख्त के लिए यह इलाका इतना बदनाम हो गया है की इसकी बदनामी की दास्तां सुनकर ही करीब एक साल पहले डीआईजी की स्पेशल टीम ने थाना पुलिस को सूचना दिए बिना इन अड्डों पर बड़े पैमानों पर छापे की कार्रवाई कर मादक पदार्थों के बड़े नेटवर्क का खुलासा किया था।

हाथठेले पर बैठकर होता है अवैध कारोबार :

इतवारा पुलिस चौकी से ठीक पीछे सईदिया स्कूल की और जाने वाले मार्ग पर मादक पदार्थों के तस्कर एक हाथठेले पर बैठकर मादक पदार्थ की पुड़िया खुलेआम बेचते देखे जा सकते हैं। काफी लंबे समय से यह हाथठेला यूं ही सिर्फ अवैध व अनैतिक व्यापार के लिए ही खड़ा किया गया है। इसकी पहचान इस पर लगी मटमैले व धुंधले लाल रंग की प्लास्टिक की पन्नी से की जा सकती है। फुटकर विक्रेताओं को 50 और 100 रुपए में मादक पदार्थ की पुड़िया बेची जाती हैं।

अजायबघर का मैदान बना बदमाशों का ठिकाना :

शाम ढलते ही अजायबघर का मैदान और उसके आसपास का इलाका असामाजिक तत्वों का अड्डा बन जाता है। कुछ ही दिन हुए अजायबघर घर के मैदान में पंक्चर जोड़ने के सोलुशन और इरेज़र का नशा करने वाले लोगों के बीच हुए आपसी विवाद के चलते एक महिला की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। रात चढ़ते ही यहां आसपास के इलाकों में जुआरियों, नशेलचियों और अन्य अनैतिक गतिविधियों में लिप्त असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लग जाता है। अनैतिक गतिविधियों के चलते ही स्थानीय रहवासियों में दहशत व्याप्त रहती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co