गड्ढे के कारण गाड़ी बहकने से आया मृतक ट्रक के नीचे
गड्ढे के कारण गाड़ी बहकने से आया मृतक ट्रक के नीचे|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

शहडोल : गड्ढे के कारण गाड़ी बहकने से आया मृतक ट्रक के नीचे

शहडोल, मध्य प्रदेश : आक्रोशित भीड़ ने मौके पर प्रदर्शन कर प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के विरुद्ध की नारेबाजी।

Afsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। रीवा-शहडोल मार्ग के टिहकी घोरसा के बीच सड़क में गड्ढों के कारण एक मोटर साइकिल सवार की ट्रक के नीचे आ जाने से मौके पर ही मौत हो गई थी। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने मौके मे पहुंच कर सांसद रीतिपाठक व विधायक शरदकोल के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया था।

रीवा शहडोल मुख्य मार्ग मे बरसात के समय ओवरलोड वाहनों के निकलने और मरम्मत न होने से बाणसागर से जैसिंहनगर तक सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। जिसमें पानी भर जाने के कारण उसकी गहराई और चौड़ाई का कोई पता नहीं चलता जिससे राहगीर आये दिन दुर्घटना का शिकार होते हैं।

कर रहे मिट्टी पत्थर का भराव :

विधानसभा क्षेत्र ब्योहारी 83 के तहसील जैसिंहनगर अंतर्गत ग्रामपंचायत टिहकी अस्पताल के पास सड़क मे गड्ढों की वजह से हुई युवक की मौत पर क्षेत्रीय विधायक शरद कोल ने आक्रोश व्यक्त करते हुऐ अपने कुछ समर्थको के साथ मिलकर उक्त गड्ढे को भरने का काम किया। गैती, तगाड़ी, फावड़ा लेकर अपने कुछ समर्थको के साथ सड़क के गड्ढे भरने उतरे क्षेत्रीय विधायक शरद कोल। प्रदेश में भाजपा की सरकार होने के बावजूद भाजपा विधायक अपने समर्थकों के साथ प्रशासन के बिरोध में रीवा शहडोल मार्ग के गड्ढों का खुद फावडा गैंती तगाड़ी से कर रहे मिट्टी पत्थर का भराव।

नेताओं के लिऐ राजनैतिक नौटंकी :

रीवा से अमरकंटक तक बनी मेन रोड के रख रखाव की जिम्मेदारी एमपीआरडीसी की है।लेकिन सम्बंधित विभाग की उदासीनता के चलते सडक पर चलना जोखिम भरा हो गया है। सडक पर बडे बडे गड्ढों के चलते आए दिन हादसे हो रहे है। सड़क का मेंटिनेंस और पेच वर्क नहीं होने से पूरी सड़क गड्ढों में तबदील हो गई है। उक्त घटना के बाद ग्रामीणों के साथ कांग्रेसियों ने मौके मे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, सांसद रीति पाठक और क्षेत्रीय विधायक शरदकोल के विरुद्ध मुर्दाबाद के नारे लगाऐ थे। इस ह्दयविदारक घटना से जहां लोगों में आक्रोश है वहीं यह मुद्दा कुछ स्थानीय नेताओं के लिऐ राजनैतिक नौटंकी साबित हो रहा है।

मुद्दे को भुनाने का कर रहे प्रयास :

विरोधियों ने विधायक द्वारा सड़क के गड्ढे पाटने को महज नौटंकी करार देते हुए, कहा कि बेहतर तो यह होता की विधायक अपनी सरकार के मुख्यमंत्री से मिलकर बजट पास कराते और सड़कों की मरम्मत कराते। ऐसे कितने गड्ढे पाटेगें विधायक जब क्षेत्र की पूरी सड़क ही गड्ढों मे तब्दील है। सरकार के लिए यह शर्म की बात है कि सड़कों की हालत इतनी बदतर है। और उनके विधायक को सड़क पर उतर कर खुद ही गड्ढे पाटने पड़ रहे हैं। सवाल यह हैं कि क्या सड़कों के गड्ढे पाटना विधायक का काम है। इसके लिए मध्यप्रदेश सड़क निगम और लोकनिर्माण विभाग है। लोगों का कहना है की विधायक अपनी असली भूमिका को छोडकर केवल नौटंकी दिखा रहे है।  क्षेत्र के भाजपा विधायक एक जिम्मेदार जनप्रतिनिधि हैं और प्रदेश में उनकी ही सरकार है ऐसी स्थिति में उचित होता कि मुख्यमंत्री से मिलकर क्षेत्र के विकास हेतु बजट पास करा नागरिकों की मूलभूत सुविधाओं को सुचारू कराते।  कांग्रेसियों का आरोप है कि क्षेत्र में जनहित के कामों में क्षेत्रीय विधायक पूरी तरह नाकाम साबित हो रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co