Raj Express
www.rajexpress.co
दीपावली में हानि पहुंचाने वाले पटाखों का उपयोग न करने की ली शपथ
दीपावली में हानि पहुंचाने वाले पटाखों का उपयोग न करने की ली शपथ|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

दीपावली में हानि पहुंचाने वाले पटाखों का उपयोग न करने की ली शपथ

शहडोल : इको फ्रेंडली पर्व मनाने के लिए विद्यार्थी, शिक्षक आये सामने, दीपावली में हानि पहुंचाने वाले पटाखों का उपयोग न करने की ली शपथ

Afsar Khan

राज एक्सप्रेस। दीपावली के पर्व के दौरान पटाखों से होने वाले प्रदूषण के नियंत्रण के लिये जनजागृति एवं जन जागरण के माध्यम से प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्वारा शुक्रवार को शहर के गुड्स शेफर्ड कान्वेंट स्कूल में वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं द्वारा पटाखे का उपयोग न करने के पक्ष में एवं विपक्ष में मत व्यक्त किये। प्रतियोगिता में शामिल छात्र-छात्राओं को बोर्ड की ओर से पुरूस्कृत भी किया गया। स्कूल में बोर्ड के द्वारा जनजागृति लाने के लिये विद्यार्थियों के बीच वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित की गई। कार्यक्रम में संयोजन स्पोर्टस प्रभारी ने किया। वाद-विवाद प्रतियोगिता में चयनित विद्यार्थियों को पीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी संजीव कुमार मेहरा के द्वारा पुरूस्कृत किया गया।

हानिकारक रोग छोड़ जाते हैं पटाखे :

दीपावली पर्व के अवसर पर पटाखों से होने वाले ध्वनि प्रदूषण के नियंत्रण हेतु केन्द्र, राज्य सरकार के अलावा सर्वोच्च और उच्च न्यायालय द्वारा जारी निर्देशों और अधिसूचनाओं की जानकारी बोर्ड के अधिकारियों ने द्वारा विद्यार्थियों के बीच साझा की गई। पीसीबी के वैज्ञानिक आनंद कुमार दुबे ने कार्यक्रम के दौरान बताया कि, ध्वनि प्रदूषण से मानव अंग जैसे नाक, कान, मस्तिष्क पर दुष्प्रभाव पड़ता है और कई हानिकारक रोग से लोग ग्रस्ति हो जाते हैं, पटाखों के निर्माण में उपयोग में लाये जाने वाले विभिन्न रसायन जो कि सीधे पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाते हैं।