अर्थव्यवस्था नहीं बिगड़े, इसलिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है : शिवराज सिंह
अर्थव्यवस्था नहीं बिगड़े, इसलिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है : शिवराज सिंहSocial Media

अर्थव्यवस्था नहीं बिगड़े, इसलिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है : शिवराज सिंह

भोपाल, मध्यप्रदेश : शिवराज सिंह ने कोरोना की मौजूदा स्थिति को लेकर कहा कि अर्थव्यवस्था नहीं बिगड़े, इसलिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है, लेकिन लोगों को मास्क लगाना चाहिए और वैक्सीनेशन कराना चाहिए।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि कोरोना संकटकाल की विषम परिस्थितियों के बीच किसानों की कर्मठता ही अर्थव्यवस्था का आधार बनी है। साथ ही उन्होंने कोरोना की मौजूदा स्थिति को लेकर कहा कि अर्थव्यवस्था नहीं बिगड़े, इसलिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है, लेकिन लोगों को मास्क लगाना चाहिए और वैक्सीनेशन कराना चाहिए।

श्री चौहान ने यहां राज्य स्तरीय मिशन अर्थ कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले साल हुए अनाज के भरपूर उत्पादन ने प्रदेश ही नहीं, देश को मजबूती प्रदान की है। राज्य सरकार किसान की आय को दोगुनी करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। खेती-पशुपालन- उद्यानिकी- मछली पालन- सहकारिता को समग्रता में लेकर फसलों के विविधीकरण, फूड प्रोसेसिंग, पैकेजिंग और सही मार्केटिंग से हमारे प्रदेश के उत्पाद देश ही नहीं दुनिया में धूम मचायेंगे।

श्री चौहान ने मिशन अर्थ के तहत यहां भदभदा क्षेत्र में 47 करोड़ 50 लाख रुपयों की लागत से स्थापित देश की दूसरी अत्याधुनिक सीमन उत्पादन प्रयोगशाला का डिजीटल तरीके से लोकार्पण किया। कार्यक्रम में विभिन्न ग्राम पंचायतों में 260 करोड़ रुपये की लागत से बनी 985 सामुदायिक गौ-शालाओं का लोकार्पण और 50 करोड़ रुपये से बनने जा रही 145 सामुदायिक गौ शालाओं का शिलान्यास भी किया गया। श्री चौहान ने मिशन अर्थ कार्यक्रम में 33 विद्युत उपकेंद्रों का लोकार्पण और चार उप केन्द्रों का भूमि पूजन भी किया। इनकी कुल लागत 1530 करोड़ रूपये है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में स्व-सहायता समूहों द्वारा उद्यानिकी रोपणियों में उत्पादित 80 लाख पौधे प्रदेशवासियों को समर्पित किये। इसके साथ ही किसान उत्पादक संगठन और कृषि अधोसंरचना निधि के हितग्राहियों को चेक भी वितरित किये।

कन्या पूजन और मध्यप्रदेश गान से आरंभ हुए इस कार्यक्रम में पशुपालन एवं डेयरी मंत्री प्रेम सिंह पटेल, किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, उर्जा मंत्री प्रद्युम सिंह तोमर, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंसकरण मंत्री भारत सिंह कुशवाह तथा विधायक रामेश्वर शर्मा भी उपस्थित थे। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार राज्य स्तरीय कार्यक्रम से सभी जिले डिजिटली जुड़े थे।

श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण के विरुद्ध लड़ाई राज्य सरकार और समाज को मिलकर लडऩा है। मास्क लगाने के नियम का गंभीरता से पालन करें। इसे किसी भी स्थिति में हल्के में नहीं लें। उन्होंने प्रदेशवासियों से स्वप्रेरणा से टीकाकरण के लिए आगे आने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि अर्थ-व्यवस्था प्रभावित नहीं हो, इसके लिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है। कोरोना को नियंत्रित करने के लिए आप सब का सहयोग आवश्यक है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल में आत्मनिर्भर भारत का मंत्र दिया। इस कड़ी में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोड मैप विकसित किया गया। अर्थ व्यवस्था और रोजगार इस रोड मैप के आधार हैं। प्रदेश के युवा और किसानों में क्षमता, प्रतिभा और योग्यता है। किसान उत्पादक संगठन कृषकों की एकता, पहल और प्रगति का प्रतीक बनेंगे।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co