Bhopal : कमलनाथ पर आचार संहिता के उल्लंघन की कार्रवाई करे चुनाव आयोग
कमलनाथ पर आचार संहिता के उल्लंघन की कार्रवाई करे चुनाव आयोगAtiq Khan - RE

Bhopal : कमलनाथ पर आचार संहिता के उल्लंघन की कार्रवाई करे चुनाव आयोग

भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में सोमवार को चुनाव आयोग में शिकायत कर कमलनाथ के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की कार्रवाई कर उनके सभाएं लेने पर रोक लगाने की मांग की है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। उपचुनाव वाले क्षेत्र पृथ्वीपुर में कमलनाथ (Kamal Nath) द्वारा लोकायुक्त जैसी संस्था को फर्जी बताए जाने एवं अधिकारी कर्मचारियों को देख लेने की धमकी देने को लेकर भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने पार्टी के चुनाव प्रबंध समिति के अध्यक्ष एवं कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र सिंह (Bhupendra Singh) के नेतृत्व में सोमवार को चुनाव आयोग (Election Commission) में शिकायत कर कमलनाथ के खिलाफ आचार संहिता (Code of Conduct) उल्लंघन की कार्रवाई कर उनके सभाएं लेने पर रोक लगाने की मांग की है। प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष सीमा सिंह, प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर, एसएस उप्पल शामिल थे।

भाजपा द्वारा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को की गई शिकायत में कहा गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पिछले दिनों पृथ्वीपुर विधानसक्षा क्षेत्र में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि कांग्रेस की सरकार आएगी तो हम एक असली लोकायुक्त बनाएंगे। यह नकली लोकायुक्त नहीं, जिसकी लगाम सरकार के हाथों में है। शिकायत में कहा गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा लोकायुक्त जैसी संवैधानिक एवं स्वतंत्र संस्था पर जिस तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है वह बेहद निंदनीय, आपत्तिजनक एवं आचार संहिता का उल्लंघन है।

शिकायत में कहा गया है कि, कमलनाथ द्वारा चुनाव कार्य में लगे अधिकारी और कर्मचारियों को भाषणों के माध्यम से डराया-धमकाया जा रहा है। पार्टी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के सभाएं लेने पर रोक लगाई जाए तथा उनके खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की कार्रवाई की जाए।

कमलनाथ का कृत्य आचार संहिता का उल्लंघन : भूपेंद्र सिंह

मीडिया से चर्चा के दौरान भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पृथ्वीपुर की आमसभा में कमलनाथ ने लोकायुक्त के बारे में कहा है कि ये फर्जी है। सभी जानते हैं कि लोकायुक्त की नियुक्ति हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस, नेता प्रतिप्रक्ष और मुख्यमंत्री की सहमति से होती है। इस प्रकार की संवैधानिक संस्था पर टिप्पणी करना आदर्श आचार संहिता के विरुद्ध है। ये धमकी की श्रेणी में आता है और संस्था का अपमान है। उन्होंने अधिकारी कर्मचारियों को भी धमकी दी है, यह भी आचार संहिता का उल्लंघन है। दोनों मामलों में हमने निर्वाचन आयोग में लिखित शिकायत करके कार्रवाई की मांग की है। श्री सिंह ने कहा कि जोबट में जिस तरह से कांग्रेस प्रत्याशी महेश पटेल और उनके समर्थक भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले कर रहे हैं, उन्हें काम करने से रोक रहे हैं, उस मामले में भी कार्रवाई की मांग चुनाव आयोग से की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co