Anuppur : सरपंच अभ्यर्थी में निर्वाचन आयोग को किया गुमराह
सरपंच अभ्यर्थी में निर्वाचन आयोग को किया गुमराहराज एक्सप्रेस, संवाददाता

Anuppur : सरपंच अभ्यर्थी में निर्वाचन आयोग को किया गुमराह

अनूपपुर, मध्यप्रदेश : जालसाजी करके जारी कराया आदेय प्रमाण पत्र। भ्रष्टाचार पर लाखों की वसूली बाकी, फिर भी सरपंच बनने की ख्वाहिश।

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ अन्तर्गत ग्राम पंचायत भेजरी सरपंच पद अभ्यर्थी दिलराज तेन्द्रो के द्वारा जालसाजी करके आदेय प्रमाण पत्र प्राप्त किया, जिसकी शिकायत अन्य अभ्यार्थियों तथा ग्रामीणों द्वारा कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी को किया गया है। कार्यवाही हेतु शिकायत पत्र देकर त्वरित कार्यवाही करने तथा प्रत्याशी का नामांकन निरस्त करने एवं इस विषय की जांच करने के संदर्भ में मांग की गई है। विदित है कि पूर्व सरपंच व वर्तमान अभ्यर्थी दिलराज तेन्द्रो के द्वारा ग्राम पंचायत भेजरी में चुनाव आवेदन पत्र में फर्जी तरीके से धोखाधड़ी एवं जालसाजी करके फर्जी आदेय प्रमाण पत्र जारी कराया गया।

पुराने निर्माण को बताया नया :

जो भवन का कभी निर्माण ही नही हुआ, उसका फर्जी मूल्यांकन कर पूरे राशि का आहरण कर लिया गया, वर्ष 2019-20 मे ग्राम पंचायत भेजरी मे 14वे वित्त आयोग की राशि से खेल मैदान मे रंग-मंच स्वीकृत हुई, जिसके बाद पूर्व मे निर्मित वर्ष 2014 मे बने रंगमंच को दिखा कर सारी राशि आहरित कर ली गई।

जांच में पाया गया फर्जीवाड़ा :

इस विषय पर ग्राम पंचायत के सदस्यों में संतुष्टि व्याप्त होने के साथ ही कार्यवाही की मांग उठने लगी थी, जिस पर ग्राम के पंच शरद द्विवेदी के द्वारा शिकायत की गई व साथ मे लिखित एवं 181 मे शिकायत की गई, जिसके बाद जिला पंचायत जांच दल के द्वारा जांच की गई जिसमे पत्र क्र. 5635/जिला/प.प्रको//धारा 40 /92/2020 में दिनांक 18-02-2020 को जांच मे पाया गया की उक्त सरपंच 261958/- रु. की राशि का दुरुपयोग पाया गया।

जांच में पाया गया दोषी :

जिला पंचायत के द्वारा एक पत्र जारी किया गया जिसमे धारा 92 के तहत चल रहे सूची पत्र में क्र. 35 मे वर्तमान सरपंच एवं वर्तमान अभ्यर्थी दिलराज तेन्द्रो की रिकवरी राशि 261958 /- सुनिश्चित की गई, जांच दल द्वारा मौके पर कोई भी नवीन रंगमंच नहीं मिलने पर यह रिकवरी निर्धारित करके तत्कालीन सरपंच पर राशि वापस करने हेतु कार्रवाई की गई।

दोषी पाए जाने पर जारी हुआ कारण बताओ नोटिस
दोषी पाए जाने पर जारी हुआ कारण बताओ नोटिसराज एक्सप्रेस, संवाददाता

सांठगांठ से हुआ फर्जी मूल्यांकन :

नजदीक में चुनाव होने के कारण सरपंच अभ्यर्थी के द्वारा फर्जी मूल्यांकन करवा कर 202000 हजार रूपय फर्जी तरीके से मूल्यांकन कर के अपनी राशि कम कर ली गई और इसी के दम पर जिला पंचायत सीईओ को भ्रमित कर के 92 की कार्यवाही से दोष मुक्त भी करा लिया गया। जिस रंग मंच का आज तक जमीन मे निर्माण कार्य नहीं हुआ उसमे उपयंत्री के साठ-गाठ से फर्जी तरीके से मूल्यांकन कर अपनी रिकवरी राशि को जमा न करके राशि 202627/-का फर्जी मूल्यांकन करा लिया गया।

चुनाव में प्राप्त किया आदेय प्रमाण पत्र :

अभ्यार्थी द्वारा फर्जी मूल्यांकन पत्र को लगा कर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अनुपपुर को भ्रमित कर धारा 92 से अपने आप को दोष मुक्त कराया गया, जो शत-प्रतिशत त्रुटि पूर्ण है, पूर्व मे एक ग्रामीण शिकायतकर्ता के द्वारा दिनांक 21-12-2021 व्हाटसप के माध्यम से मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को सूचना दी गई एवं दिनांक 23-12-2021 को पुन: व्हाटसप के द्वारा कलेक्टर सीईटो, एसडीएम पुष्पराजगढ़ एवं सीईओ जपं पुष्पराजगढ़ को सूचनार्थ दी गई।

नामांकन रद्द करने की मांग :

निर्वाचन आयोग शासन-प्रशासन को गुमराह करके अभ्यर्थी दिलराज तेन्द्रो के द्वारा ऐसा जालसाजी किया जाना जो की बहुत संवेदनशील अपराध है, ग्रामीणों द्वारा कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी से उक्त अभ्यर्थी के इस प्रकरण का जांच करते हुए धोखा-धडी एवं जालसाजी का प्रकरण दर्ज करने एवं अभ्यर्थी का नामांकन निरस्त करने की मांग किया गया है।

इनका कहना है :

मामले को संज्ञान में लेकर ही, इसकी जानकारी दे पाऊंगा, कुछ देर बाद आपको इस विषय में जानकारी देता हूं।

अभिषेक चौधरी, एसडीएम पुष्पराजगढ़

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co