भोपाल : प्रत्येक पात्र पथ व्यवसायी को मिले काम-धंधे के लिए ऋण

भोपाल, मध्य प्रदेश : मुख्यमंत्री ने शहरी एवं ग्रामीण पथ व्यवसायी योजना क्रियान्वयन की समीक्षा की। मध्यप्रदेश स्ट्रीट वेंडर्स योजना के क्रियान्वयन में देश में अग्रणी।
भोपाल : प्रत्येक पात्र पथ व्यवसायी को मिले काम-धंधे के लिए ऋण
समीक्षा करते मुख्यमंत्रीSocial Media

भोपाल, मध्य प्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सरकार छोटा-छोटा व्यवसाय करने वाले पथ व्यवसायियों को उनके काम-धंधे के लिए बिना गारंटी बिना ब्याज का ऋण दिलवा रही है। इच्छुक पथ व्यवसाई इसके लिए आवेदन करें, उन्हें 10 हजार रुपए का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह प्रसन्नता का विषय है कि पीएम स्वनिधि योजना (स्ट्रीट वेंडर्स योजना) के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश देश में अव्वल है, परंतु हमें यहीं नहीं रूकना है, हमें प्रदेश में हर पात्र पथ व्यवसाई को योजना का लाभ देना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में शहरी एवं ग्रामीण पथ व्यवसायी (स्ट्रीट वेंडर्स) ऋण योजना की समीक्षा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के सभी स्ट्रीट वेंडर्स (पथ पर व्यापार करने वाले) से कहा है कि जो भी अपने काम-धंधे के लिए स्ट्रीट वेंडर्स योजना में 10 हजार रुपए का बिना गारंटी बिना ब्याज का ऋण चाहते हैं वे तुरंत आवेदन करें। सभी पात्र स्ट्रीट वेंडर्स को बैंकों द्वारा ऋण दिया जाएगा। प्रदेश में कुल स्ट्रीट वेंडर्स की संख्या लगभग पांच लाख है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश पूरे देश में अग्रणी है। पीएम स्वनिधि पोर्टल पर प्रदेश के 3.28 लाख स्ट्रीट वेंडर्स के आवेदन प्रस्तुत किए गए हैं, जिनमें से दो लाख बैंकों द्वारा स्वीकृत कर दिए गए हैं तथा 1.37 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को ऋण की राशि का वितरण भी किया जा चुका है। उन्होंने निर्देश दिए कि स्वीकृत 63 हजार प्रकरणों में ऋण वितरण शीघ्र किया जाए।

प्रदेश में योजना के आंकड़े :

  • कुल स्ट्रीट वेंडर्स हैं - 5,00,000

  • आवेदन प्रस्तुत किए गए - 3, 28,000

  • स्वीकृत किए गए - 1, 35,000

  • जल्द होगा ऋण वितरण - 63,000

धनतेरस को खातों में अंतरित होगी राशि :

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ व्यवसाय योजना में प्रदेश में अभी तक 60,233 प्रकरण स्वीकृत किए जा चुके हैं। इनमें से 39,233 स्ट्रीट वेंडर्स को ऋण वितरित कर दिया गया है। प्रदेश में योजना के कुल आठ लाख 52 हजार 524 हितग्राही हैं। मुख्यमंत्री ने सभी पात्र हितग्राहियों को योजना का लाभ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी पात्र हितग्राहियों को योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के अंतर्गत स्वीकृत प्रकरणों में 12 नवंबर, धनतेरस को हितग्राहियों के खातों में राशि अंतरित की जाएगी।

क्या है स्ट्रीट वेंडर्स योजना :

आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत शहरी पथ विक्रेताओं को पुन: रोजगार से जोड़ने के लिए भारत सरकार द्वारा पीएम स्वनिधि योजना आरंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को एक वर्ष के लिए 10 हजार रुपए की कार्यशील पूंजी का ऋण प्रदान किए जाने का प्रावधान है। समय से भुगतान करने पर अगले वर्ष हितग्राही 20 हजार रुपए तक की सीमा की कार्यशील पूंजी के लिए पात्र रहेगा। डिजिटल ट्रांजेक्शन करने पर 1200 रुपए तक के विशेष अनुदान का भी प्रावधान किया गया है। इस कार्यशील पूंजी पर भारत सरकार के द्वारा सात प्रतिशत के ब्याज अनुदान का प्रावधान है। शेष ब्याज अनुदान मध्यप्रदेश सरकार द्वारा दिया जाएगा। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा इसी तर्ज पर ग्रामीण पथ व्यवसाई योजना भी प्रारंभ की गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co