Raj Express
www.rajexpress.co
हनी ट्रैप मामले में राज एक्सप्रेस की पड़ताल से हुआ पर्दाफाश
हनी ट्रैप मामले में राज एक्सप्रेस की पड़ताल से हुआ पर्दाफाश|Social Media
मध्य प्रदेश

हनी ट्रैप केस में राज एक्सप्रेस ने किया पूर्वमंत्री का पर्दाफाश

सिरोंज, मध्य प्रदेश: हनी ट्रैप मामले में राज एक्सप्रेस द्वारा पड़ताल करने पर बहुत सी बातें खुल कर सामने आई हैं, जिसमें BJP के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा का भी पर्दाफाश हुआ है, यहां पढ़िए पूरी खबर।

राज एक्सप्रेस। कुछ समय पहले ही हनी ट्रैप मामले के तहत मध्य प्रदेश में चल रहे काले कारनामों के खुलासे हुए हैं, यह मामले बढ़ते-बढ़ते इतने बढ़ते चले गए कि, इन मामलों में कई शहरों और नामदार लोगों के नाम भी सामने आये। वहीं अब इस मामले में सिरोंज के रहने वाले BJP के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा का नाम सामने आया है। जानकारी के लिए बता दें कि, यह वही लक्ष्मीकांत शर्मा हैं, जिनका नाम व्यापम घोटाले में भी आया था।

क्या है मामला :

राज एक्सप्रेस द्वारा 1 अक्टूबर 2019 के अंक में हनी ट्रैप मामले को लेकर प्रमुखता से खबर प्रकाशित की गई थी, जिसमें पूर्व मंत्री की बेचैनी को लेकर कई बातों जिक्र किया गया था। वहीं सोमवार को लोकस्वामी अखबार ने उक्त मामले का पर्दाफाश वीडियो द्वारा किया है। जो सोशल मीडिया पर लगातार तेजी से वायरल हो रहा है क्योंकि, अब प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले में पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा का असली चेहरा सामने आ गया है। जिसे देखकर सभी के होश उड़ गए हैं।

क्या था वीडियो में :

वायरल हो रहे इस वीडियो में हनी ट्रैप मामले की मास्टरमाइंड सागर निवासी श्वेता जैन के साथ पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा की कुछ शर्मसार कर देने वाली हरकतें और तस्वीरें सामने आईं हैं। वीडियो में दिखने वाला आदमी साफ़ समझ आ रहा है जो लक्ष्मीकांत शर्मा हैं, इतना ही नहीं लक्ष्मीकांत और श्वेता एक साथ एक कमरे में हैं और लक्ष्मीकांत के एक हाथ में सिगरेट और दूसरे हाथ में शराब का एक ग्लास नजर आ रहा है। इस वीडियो के वायरल होते ही राजनैतिक दलों में काफी उथल-पुथल मच गई है।

यह वीडियो संझा लोकस्वामी द्वारा जारी किया गया है। राज एक्सप्रेस इस वीडियो की पुष्टि की कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

पहले भी जा चुके हैं जेल :

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा व्यापम घोटाले के कारण पहले भी जेल जा चुके हैं। जेल से आने के बाद उन्होंने अपने क्षेत्र में कार्यकर्ताओं के बीच सतत संपर्क कर अपनी प्रतिष्ठा को बरकरार रखा था, लेकिन विपक्ष पार्टी कांग्रेस हमेशा से ही लक्ष्मीकांत शर्मा के चाल-चरित्र पर सवाल उठाती रही है और अब इस वीडियो के सामने आने के बाद लक्ष्मीकांत शर्मा का चरित्र साफ़ समझ आ रहा है।

कांग्रेस नेताओं का कहना :

हनी ट्रैप मामले का खुलासा होने के बाद से ही स्थानीय कांग्रेसी नेता बबाल मचा रहे हैं, उनका कहना है कि, हनीट्रैप तो एक मामला है, यदि प्रमुखता से जांच पड़ताल की जाए तो पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के ऐसे कई बड़े मामलों का खुलासा होगा, साथ ही और कई दिग्गज नेताओं के नाम भी सामने आ सकते हैं।

लक्ष्मीकांत शर्मा को कहते थे गुरू :

जानकारी के लिए बता दें कि, स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा को गुरू कहकर पुकारते थे। शर्मा जिस कार्यक्रम में शामिल होने जाता था वहां पैर छूने वालों की कतार बाहर से ही लग जाती थी, मानो कोई पालनहार आ गया हो। चौंका देने वाली बात तो यह है कि, भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ ही भाजपा के दिग्गज नेता और मंत्री विधायक भी लक्ष्मीकांत शर्मा को गुरू ही कहते थे और उनके पैर छूने में जरा भी झिझक महसूस नहीं करते थे, लेकिन अब इस हनी ट्रैप मामले के खुलासे के बाद यह सभी लोग अपने गुरू की करतूत से शर्मसार हैं।

कौन है लक्ष्मीकांत शर्मा :

जानकारी के लिए बताते चलें कि, लक्ष्मीकांत शर्मा भाजपा विधायक उमाकांत शर्मा के भाई हैं, इसके अलावा यह व्यापम घोटाले को लेकर जेल भी जा चुके हैं, हालांकि जेल से आने के बाद पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने अपनी छवि काफी बेदाग बना ली थी। वहीं जैसे ही विधानसभा चुनाव आये लक्ष्मीकांत शर्मा ने उसमें टिकट की दावेदारी भी पेश की, लेकिन व्यापम घोटाले में उनका नाम आने के कारण उन्हें टिकट नहीं मिला।

व्यापम घोटाले को लेकर लक्ष्मीकांत शर्मा कोई बड़ा खुलासा ना कर दे इस डर के कारण पार्टी ने उनके छोटे भाई उमाकांत शर्मा को टिकट दे दिया। इस तरह उन्होंने राजनीतिक क्षेत्र में अपनी पकड़ बनाए रखी थी परंतु अब इस हनीट्रैप मामले में उनका नाम आने से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।