यदि हम टीकाकरण नहीं करवाते तो यह शर्म की बात : सीएम शिवराज सिंह चौहान
यदि हम टीकाकरण नहीं करवाते तो यह शर्म की बात : शिवराज सिंह चौहानSyed Dabeer Hussain - RE

यदि हम टीकाकरण नहीं करवाते तो यह शर्म की बात : सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, मध्यप्रदेश : कोविड वैक्सीनेशन की समीक्षा बैठक में सीएम ने कहा टीका नहीं लगवाना स्वयं के लिए तो खतरा है ही, परिजन और परिचितों के जीवन से भी खिलवाड़।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में 25 दिसंबर तक शत-प्रतिशत पात्र लोगों को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाना सुनिश्चित किया जाए। जिन लोगों ने दूसरा डोज नहीं लगवाया है, उन्हें चिन्हित कर उनका निश्चित समय-सीमा में टीकाकरण सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि टीका नहीं लगवाना स्वयं के लिए तो खतरा है ही, परिजन और परिचितों के जीवन से खिलवाड़ भी है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेशवासियों में यह भाव विकसित करना होगा कि यदि हम टीकाकरण नहीं करवाते तो हम अपनी बड़ी जिम्मेदारी से मुकर रहे हैं और यह शर्म की बात है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण के लिए जागरूकता के साथ टोका-टोकी का भी अभियान चलाना होगा। शासकीय लाभ लेने तथा शासकीय कार्य से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति से दूसरा डोज लगवाने के संबंध में अवश्य पूछताछ की जाए। इस अभियान में पुलिस सहित राज्य सरकार के सभी विभाग सक्रिय भूमिका निभाएं। चौहान मंत्रालय में कोविड वैक्सीनेशन की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। सभी जिलों के कमिश्नर और कलेक्टर वर्चुअली शामिल हुए।

टीकाकरण के लिए प्रत्येक दिन का टारगेट निर्धारित करें कलेक्टर :

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रत्येक जिला कलेक्टर 25 दिसम्बर तक कोरोना की दूसरी डोज लगाने के लिए प्रत्येक दिन का टारगेट तय कर टीकाकरण पूर्ण करें। प्रस्तुतिकरण देखने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन जिलों ने योजनाबद्ध तरीके से कार्य किया है, वहां टीकाकरण में उपलब्धि प्राप्त हुई है। प्रदेश में 10, 17 एवं 24 नवम्बर तथा एक दिसम्बर को टीकाकरण महाअभियान संचालित किया जाएगा।

जिन घरों में सभी पात्र व्यक्तियों का टीकाकरण नहीं हुआ है, उन घरों को चिन्हित करें :

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने निर्देश दिए कि सभी विभाग अपने कर्मचारियों तथा उनके परिवारों का शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करें। शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक घर का सर्वे किया जाए। जिन परिवारों के पात्र सदस्यों का शत-प्रतिशत टीकाकरण नहीं हुआ है, उन घरों को चिन्हित किया जाए। एनसीसी, स्काउट-गाइड का सहयोग लें और मैं हूँ वॉलेंटियर अभियान प्रत्येक स्तर पर संचालित किया जाए।

इंडेक्स रैंकिंग में दतिया, उमरिया, मुरैना, बालाघाट और छिंदवाड़ा आगे :

बताया गया कि अक्टूबर माह में टीकाकरण की गति कम रही है। प्रदेश में वैक्सीनेशन के लिए पात्र 5 करोड़ 49 लाख 50 हजार जनसंख्या में से 4 करोड़ 99 लाख 30 हजार लोगों को प्रथम डोज लगाई जा चुकी है। दूसरी डोज मात्र 2 करोड़ 11 लाख 40 हजार लोगों को लगी है। प्रथम और द्वितीय डोज लगाने में राज्य स्तर पर की गई। इण्डेक्स रैंकिंग में दतिया, उमरिया, मुरैना, बालाघाट और छिंदवाड़ा बेहतर स्थिति में हैं। भोपाल और इंदौर दूसरी डोज में लंबित संख्या अधिक होने के कारण पिछड़े हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co