सिंगरौली : बेटे की मृत्यु से नाराज परिजनों ने डॉक्टर पर लगाये गंभीर आरोप
सिंगरौली, मध्य प्रदेश : सिंगरौली जिले में सितंबर महीने ने हुए बेटे की मौत से नाराज परिजन आज दस्तावेज प्राप्त करने के दौरान अमर्यादित व्यवहार को लेकर भड़क गए और डॉक्टर पर गंभीर आरोप लगाये।
सिंगरौली : बेटे की मृत्यु से नाराज परिजनों ने डॉक्टर पर लगाये गंभीर आरोप
बेटे की मृत्यु से नाराज परिजनों ने डॉक्टर पर लगाये गंभीर आरोपShashikant Kushwah

सिंगरौली, मध्य प्रदेश। सिंगरौली जिले में सितंबर महीने ने हुए बेटे की मौत से नाराज परिजन आज दस्तावेज प्राप्त करने के दौरान अमर्यादित व्यवहार को लेकर भड़क गए। इसके साथ ही परिजनों ने चिकित्सक एवं अस्पताल प्रबंधन के कार्य पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए गंभीर आरोप लगाए। इसके पूर्व में परिजनों के द्वारा जिला कलेक्टर के समक्ष अपनी शिकायत लिखित रूप में दी गयी है बहरहाल मामले की जांच जिला प्रशासन कर रहा है।

जानें पूरा मामला :

प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के खड़िया परियोजना में रहने वाले एक व्यक्ति ने जिला कलेक्टर सिंगरौली को लिखित तौर पर दिए आवेदन पर नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड के अस्पताल चिकित्सक के ऊपर गंभीर आरोप लगाए हैं जिसमें पीड़ित का कहना है कि वे अपने बच्चे को इलाज के लिए सिंगरौली जिले में स्थापित नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड के नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में भर्ती कराया था जहां पर 11 घंटे में ही पीड़ित के बच्चे की मृत्यु हो जाती है।

बिना जांच के डॉक्टर ने मृतक को बताया कोरोना पॉजिटिव :

मामले पर मृतक के परिजन ने बताया कि मृतक बच्चे की बिना किसी जांच के नेहरू अस्पताल के डॉक्टर ने मृतक बच्चे को कोरोनावायरस से संक्रमित बता दिया, वहीं बच्चे की खराब तबीयत को देखते हुए जब चिकित्सक एवं अस्पताल के सीएमएचओ से बात की तब जांच किट उपलब्ध ना होने का हवाला देकर जांच के लिए अगली तिथि दे दी गई एवं जांच को लेकर जोर डालने पर अस्पताल प्रबंधन के जिम्मेदार अधिकारी आधे घंटे के अंदर जांच का हवाला दे दिया।

चिकित्सक ने मृत्यु की वजह कोरोना बताया :

संबंधित मामले में बच्चे की मृत्यु को लेकर अस्पताल के डॉक्टरों का दावा है कि बच्चे के मृत्यु कोरोना वायरस के संक्रमण के वजह से हुई साथ ही चिकित्सकों का कहना है कि बच्चे के शरीर में ऑक्सीजन का लेवल 82 रहा जो कि आम तौर पर काफी कम था । इसके साथ ही डॉक्टर ने बताया मृतक बच्चे की बीमारी के लक्षण के कारण के तौर पर इलाज कर रहे थे।

अस्पताल प्रबंधन ने नही किया प्रोटोकॉल का पालन :

बच्चे की मृत्यु के उपरांत नेहरू अस्पताल में लापरवाही बरतते हुए कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन ना करने का आरोप परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लगाया है एवं परिजनों का आरोप है कि यदि मृतक कोरोनावायरस से संक्रमित था तो संबंधित संक्रमित व्यक्ति का दाह संस्कार जिला प्रशासन की निगरानी मे ना करा कर परिजनों को ही शव दे दिया जो कि अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही को उजागर करता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co