अब इंतजार खत्म! MP की जेलों में बंद कैदियों से परिजन 1 नवंबर से मिल सकेंगे

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है, बंदियों को अपनों से मिलने का इंतजार खत्म होने जा रहा है, 1 नवंबर से बंदियों को परिजनों से मुलाकात करने के आदेश जारी।
अब इंतजार खत्म! MP की जेलों में बंद कैदियों से परिजन 1 नवंबर से मिल सकेंगे
कैदियों से परिजन 1 नवंबर से मिल सकेंगेSocial Media

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना संकटकाल के बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दी है, कोरोना के बढ़ते संक्रमण से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वही इसी बीच एक अच्छी खबर सामने आई है। मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश की जेलों में बंद कैदियों से परिजन मिल सकेंगे। बता दें कि कोरोना के चलते कैदियों से मिलने पर रोक लगाई गई थी लेकिन अब 1 नवंबर से परिजन मध्यप्रदेश की जेलों में बंद बंदी से मिल सकेंगे।

जेल मुख्यालय ने जारी किया आदेश :

बता दें कि जेल मुख्यालय ने बंदियों को 1 नवंबर से परिजनों से मुलाकात प्रारंभ करने के आदेश जारी कर दिए हैं। अभी मुलाकात पर 31 अक्टूबर तक रोक लगी है। इससे पहले इसे 4 बार बढ़ाया गया था। अगस्त में तो सीधे 2 महीने के लिए मिलने पर रोक लगा दी थी। पहले यह प्रतिबंध 31 अगस्त तक था। हालांकि इस दौरान कैदियों को वीडियो कॉल की सुविधा दी गई।

कोरोना के चलते लगाई गई थी रोक :

बताते चलें कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते 23 मार्च से लॉकडाउन शुरू किया गया था, जिसके बाद बदलाव कर जेल में बंदियों से मुलाकात पर भी 31 मई तक रोक लगा दी गई थी। वहीं बढ़ते मामलों को देखते हुए मुलाकात पर रोक की अवधि एक माह और बढ़ा दी गई थी जो कि 30 जून तक थी। इसके बाद शासन ने आदेश जारी कर इसे 31 जुलाई तक कर दी थी। इस दौरान जेल में बंद कैदियों से मुलाकात पर प्रतिबंध लग गया था।

वहीं दूसरी तरफ कोरोना संकटकाल के चलते मध्यप्रदेश में जेल में बंद कैदियों से मिलने पर रोक लगी रोक के कारण कोई भी रिश्तेदार और परिवार के लोग जेल में बंदी से नहीं मिल सकते थे, इस दौरान मध्य प्रदेश जेल प्रशासन ने नया तरीका अपनाया था कोरोना संकट में फोन की सुविधा निशुल्क उपलब्ध करवाई गई थी। लेकिन अब जेलों में कैदियों की मुलाकात पर लगी रोक हट गयी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co