जबलपुर : पहले पैसा दो, फिर देंगे बॉडी, अस्पताल में हुआ हंगामा

जबलपुर, मध्य प्रदेश : कलेक्टर व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को की शिकायत। पीड़ितों की नहीं हुई सुनवाई।
जबलपुर : पहले पैसा दो, फिर देंगे बॉडी, अस्पताल में हुआ हंगामा
पहले पैसा दो, फिर देंगे बॉडी, अस्पताल में हुआ हंगामाSocial Media

जबलपुर, मध्य प्रदेश। मेडिसिटी हॉस्पिटल के द्वारा शव न दिए जाने को लेकर सुबह के वक्त हंगामा खड़ा हो गया, परिवारजनों का कहना है कि सरकार द्वारा निर्धारित किए गए रेट के अनुसार उन्होंने अस्पातल में अतिरिक्त पैसा जमा कर दिया है, जिससे उल्टा उन्हें अस्पताल से 20 हजार रूपये लेना बन रहा है, लेकिन अस्पताल वाले परिजनों को कह रहे हैं कि जब तक वह और 1 लाख रूपये अस्पताल में नहीं जमा करें, तब तक वह मृतक का शव उन्हें नहीं देंगे, जिसको लेकर परिवारजनों ने अस्पताल में हंगामा किया और इस संबंध की शिकायत कलेक्टर व मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी को भी, लेकिन कुछ नहीं हो सका। बाद में परिवारजनों को जब कहीं से सुनवाई नहीं हुई, तब पैसा देना पड़ा, तभी उन्हें बॉडी मिल सकी।

वहीं इस मामले को लेकर नरसिंहपुर तेन्दुखेड़ा निवासी मृतक हुसैन खान कुरैशी उम्र 80 वर्ष परिजनों ने बताया कि उनके पिता जी को 31 अगस्त को कोरोना के चलते मेडिसिटी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जिसके चलते उनके द्वारा 15 हजार रूपये प्रतिदिन के हिसाब से पैसों का भुगतान 45 दिनों तक का किया गया, तो वहीं दो दिन का भुगतान साढ़े 12 हजार रूपये के हिसाब से किया। इस प्रकार उनके द्वारा 7 लाख 20 हजार रूपये अस्पताल में जमा कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि 16 अक्टूबर की देररात्रि को उनके पिता हुसैन खान कुरैशी का निधन हो गया है, जिसके बाद सुबह जब वह शव की मांग करने लगे तो उनके द्वारा और 1 लाख रूपये दिए जाने की मांग करने लगे और अस्पताल के द्वारा कहा जाने लगा, जब वह 1 लाख रूपये देंगे, तक उन्हें बॉडी मिलेगी, नहीं तो बॉडी बिना पैसों के नहीं दी जाएगी, जिसको लेकर पीड़ित परिवारजनों के द्वारा हंगामा किया गया और इस संबंध की शिकायत प्रशासन स्तर पर की गई।

गरीब नवाज कमेटी ने किया सहयोग :

वहीं जबलपुर के बाहर से आए परिजनों की परेशानी को देखकर गरीब नवाज कमेटी के सदस्य इनायत अली को जब इस बात की जानकारी मिली, तब उन्होंने उनकी आवाज को शासन प्रशासन तक पहुंचाने का प्रयास किया, लेकिन प्रशासन के द्वारा पीड़ितों की नहीं सुनी गई। जिसके बाद गरीब नवाज कमेटी के द्वारा मृतक के शव का अंतिम क्रियाकर्म परिवारजनों के सहयोग से मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार करवाया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co