CM ने की ये अपील
CM ने की ये अपील|Social Media
मध्य प्रदेश

प्रदेश के 9 जिलों में बाढ़ ने मचाई तबाही, रेस्क्यू जारी! CM ने की ये अपील

मध्यप्रदेश में लगातार हो रही बारिश की वजह से राज्य के कई नदी- नाले उफान पर हैं, वही मप्र के 9 जिलों में 394 से ज्यादा गांव में बाढ़ ने तबाही मचाई है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

मध्यप्रदेश। प्रदेश में लगातार हो रही बारिश की वजह से राज्य के कई नदी- नाले उफान पर हैं। बता दें कि प्रदेश के कई जिलों में बारिश से हाहाकार मचा हुआ है। भारी बारिश ने पूरे शहर में तबाही मचा कर रख दी है, कई जिलों में आई बाढ़ की वजह से आम लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन अब भी जारी है।

प्रदेश के 9 जिलों में 394 से ज्यादा गांव में आई बाढ़ :

मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश के 9 जिलों में 394 से ज्यादा गांव में बाढ़ ने तबाही मचाई है। अब तक 7000 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं आवश्यक मात्रा में भोजन इत्यादि की व्यवस्था शिविरों में की गई है।

वहीं मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में बाढ़ में फंसे 5 लोगों को हेलीकॉप्टर से एयर लिफ्ट किया गया है, बताते चलें कि होशंगाबाद, सीहोर और रायसेन जिले के कई गांव बाढ़ में घिर गए हैं। अनेक भाई-बहनों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। प्रदेश की राजधानी के नरेला समेत कुछ क्षेत्रों में हमारे प्रदेशवासी फंसे हैं उन्हें निकालने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

आगे मिली जानकारी के अनुसार एयरफ़ोर्स के दो हेलीकॉप्टर होशंगाबाद, रायसेन और सीहोर के लिए आने वाले थे। मौसम खराब होने की वजह से उनको रास्ते से ही वापस लौटना पड़ा है। एक हेलीकॉप्टर झांसी और एक हेलीकॉप्टर नागपुर गया है। कल सुबह शीघ्र ही यह हेलीकॉप्टर प्रदेश आएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने एयरफ़ोर्स से हेलीकॉप्टर मांगे हैं एअरलिफ्ट करने का काम सवेरे जल्दी प्रारंभ किया जाएगा। मौसम खराब होने की वजह से उसमें बाधा पैदा हो रही है।

होशंगाबाद, रायसेन, सीहोर जिले के लिए भी बाढ़ से बचाव हेतु सेना बुलाई :

प्रदेश में तेज बारिश के कारण आर्मी के जवानों को पहुंचने में भी समय लग रहा है। बाढ़ की वजह से रास्ते जगह-जगह से बंद है लेकिन हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें भी पूरी तरह से लगी हुई। होशंगाबाद, बरेली, शाहगंज नर्मदा जी के किनारे के अनेक गांव-कस्बों में नर्मदा जी की सहायक नदियों के कारण से कई जगह समस्या है।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि यह संकट का समय है लेकिन इसमें धीरज रखना है। मैंने स्वयं अपने कार्यालय को कंट्रोल रूम बना लिया है। लगातार में लोगों से लोगों के संपर्क में हूं, प्रशासन भी मुस्तैद है। कार्यालय में रात भर मैं भी बैठूंगा मेरी आपसे प्रार्थना है कि आप घबराएं नहीं। संयम और धैर्य रखें आपकी हर संभव सहायता की जाएगी। प्रिय बहनों-भाइयों और बच्चों को सुरक्षित निकालने में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

शिवराज ने आगे कहा कि, मेरी सभी समाजसेवियों, नौजवान साथियों, विभिन्न संस्थाओं से अपील है कि संकट के समय बचाव और राहत के कार्यों में वह प्रशासन के साथ जुटे। भोजन-पानी, चाय इत्यादि की व्यवस्था भी प्रशासन के साथ मिलकर करें। पूरे हिम्मत के साथ हम इस प्राकृतिक आपदा का मुकाबला करेंगे एवं इसमें से सुरक्षित निकलेंगे, मेरी पूरी टीम और मैं स्वयं राहत और बचाव के कामों की निरंतर मॉनिटरिंग कर रहे हैं। ईश्वर की कृपा से नर्मदा मैया की कृपा से सब ठीक होगा।

मुख्यमंत्री ने की अपील-

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के कई इलाकों के अति वर्षा से उत्पन्न बाढ़ जैसे हालात को लेकर लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि, प्रदेशवासी संयम रखें, बचाव एवं राहत कार्य जारी है। राज्य सरकार बाढ़ की हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co