ग्वालियर : ऑडियो वायरल मामले में ऋषीश्वर हॉस्पिटल पर लगती दिख रही मुहर!
ऑडियो वायरल मामले में ऋषीश्वर हॉस्पिटल पर लगती दिख रही मुहर!Raj Express

ग्वालियर : ऑडियो वायरल मामले में ऋषीश्वर हॉस्पिटल पर लगती दिख रही मुहर!

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : हॉस्पिटल प्रबंधन ने अभी तक थाने में जांच के लिए नहीं दिया आवेदन। मामला हॉस्पिटल में मरीज भेजने पर 30 प्रतिशत कमीशन का।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। झांसी के चिकित्सक और ऋषीश्वर हॉस्पिटल के प्रबंधन के बीच हुई बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ था। ऑडियो हॉस्पिटल प्रबंधन द्वारा की गई बातचीत का ही है। इस पर मौहर लगती दिख रही है, क्योंकि ऑडियो की सत्यता को लेकर हॉस्पिटल प्रबंधन ने दो दिन तक कोई कदम नहीं उठाया है। इतना ही नहीं ऑडियो की सत्यता का पता लगाने के लिए भी अस्पताल प्रबंधन ने थाने और पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आवेदन तक नहीं दिया।

विगत दिवस एक ऑडियो वायरल हुआ था। इसमें ऋषीश्वर हॉस्पिटल प्रबंधन द्वारा झांसी के चिकित्सक को मरीज भेजने पर 30 प्रतिशत कमीशन का खुला ऑफर दिया था, लेकिन इस पूरी बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया। इसमें खास बात यह है कि दो दिन बीत गए, उसके बाद भी हॉस्पिटल प्रबंधन ने इस मामले की जांच के लिए अभी तक थाने में आवेदन तक नहीं दिया। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि शायद वह ऑडियो हॉस्पिटल प्रबंधन द्वारा की हुई बातचीत का ही है।

यह है मामला :

सोमवार को एक ऑडियो वायरल हुआ था। इसमें गोले का मंदिर, भिण्ड रोड स्थित बीएसएफ कॉलोनी के पास ऋषिश्वर हॉस्पिटल की रिस्पेशनिस्ट झांसी के चिकित्सक को अपने हॉस्पिटल की सुविधाओं से अवगत कराती है। इस पर पर चिकित्सक ने रिस्पेशनिस्ट से पूछा था कि इससे हमें क्या मतलब है? फिर रिस्पेशनिस्ट अपनी बात पर आ गई थी। उसने झांसी के चिकित्सक को बताया कि आप झांसी से मरीज रैफर करके हमारे पास भेजो। इसके बदले हम आपको 30 प्रतिशत कमीशन देंगे। यह सुन झांसी के चिकित्सक ने ऋषीश्वर हॉस्पिटल की रिस्पेशनिस्ट की क्लास ले डाली। इस पर वह फोन छोड़कर चली गई और हॉस्पिटल की मैनेजर डॉ. सपना को फोन दे गईं। डॉ. सपना ने भी झांसी के चिकित्सक को कमीशन के झांसे में लेना चाहा, लेकिन वह उल्टा पड़ गया। झांसी के चिकित्सक ने डॉ. सपना की क्लास लेते हुए, उन्हें दलाली छोडऩे की नसीहत दे डाली। इस पर डॉ. सपना झांसी के चिकित्सक से सॉरी और थैंक्यू कहती हुईं सुनाई दीं थीं। जब इस संबंध में ऋषीश्वर हॉस्पिटल के प्रबंधक डॉ. नितिन शर्मा और डॉ. मनीष अग्रवाल से फोन पर चर्चा करनी चाही तो उन्होंने फोन अटेण्ड नहीं किया। वाट्सएप्प पर भी उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

इनका कहना है :

ऋषीश्वर हॉस्पिटल प्रबंधन के द्वारा ऑडियो की जांच के संबंध में थाने में अभी तक कोई आवेदन नहीं दिया है। इसलिए ऑडियो की जांच नहीं की गई है। हॉस्पिटल प्रबंधन यदि आवेदन देता तो हम जांच कराते।

मिर्जा आसिफ बेग, थाना प्रभारी, महाराजपुरा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co