अतिक्रमण हटाने गई फारेस्ट टीम पर हमला, टीम को करना पड़े हवाई फायर
अतिक्रमण हटाने गई फारेस्ट टीम पर हमला, टीम को करना पड़े हवाई फायर|Social Media
मध्य प्रदेश

अतिक्रमण हटाने गई फारेस्ट टीम पर हमला, टीम को करना पड़े हवाई फायर

रायसेन, मध्यप्रदेश : रातापानी अभ्यारण्य झिरी में अतिक्रमण हटाने के दौरान बड़ा विवाद हो गया है।अतिक्रमण हटाने गई जेसीबी में ग्रामीणों ने की तोड़-फोड़।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

हाइलाइट्स :

  • मामला! रायसेन के नूरगंज क्षेत्र का

  • रातापानी अभ्यारण्य झिरी में अतिक्रमण के दौरान विवाद

  • झिरी में फारेस्ट की जमीन पर बना है वर्षो पुराना मंदिर

  • अतिक्रमण हटाने गई फारेस्ट टीम को करने पड़े 3 हवाई फायर

  • गांव वालों ने किया विरोध पुलिस की गाड़ियां,जेसीबी भी फोड़ी

  • अभी भी हालत गंभीर भारी बल मौके पर तैनात

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के रातापानी अभ्यारण्य झिरी में अतिक्रमण के दौरान बड़ा विवाद हो गया है। अतिक्रमण हटाने गई जेसीबी में ग्रामीणों ने की तोड़-फोड़, गांव वालों ने विरोध किया और पुलिस की गाड़ियां और जेसीबी भी फोड़ दी।

झिरी में फारेस्ट की जमीन पर बना है वर्षो पुराना मंदिर

मामला मध्यप्रदेश के रायसेन के नूरगंज क्षेत्र का है। दरअसल फारेस्ट की जमीन पर वर्षो पुराना मंदिर झिरी में बना है। अतिक्रमण सीमा सुरक्षा बल (BSF) के 250 जवान और जिले के पुलिस बल की मौजूदगी में हटाया जा रहा है। मौके पर अभी भी संवेदनशील स्थिति बनी हुई है।

जानिए पूरा मामला

मिली जानकारी के अनुसार अतिक्रमण हटाने गयी फारेस्ट टीम पर गांव वालों ने हमला किया, इस दौरान फारेस्ट की टीम को तीन हवाई फायर करने पड़े। आपको बता दें कि, फारेस्ट की टीम अतिक्रमण हटाने रातापानी अभ्यारण्य झिरी में गई थी। जिसके बाद गांव वाले इसका विरोध करने लगे तथा आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ियों और जेसीबी पर टूट पड़े और तोड़-फोड़ करने लगे। जिसके बाद फारेस्ट की टीम ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए 3 हवाई फायर किये।

जानकारी देते हुए आपको बता दें कि

रायसेन जिले के रातापानी अभ्यारण्य झिरी में मंदिर टूटने की वजह से लोग उग्र हो गए हैं अभी-अभी एक 100 डायल को तोड़ा गया है। तोड़ी गई 100 डायल कोलार थाने की थी और 2 पुलिस कर्मी घायल हुए है। आम लोगों के लिए कोलार से झिरी जाने का रास्ता भी खतरनाक है।

रातापानी अभ्यारण के अंतर्गत ग्राम झिरी बहेड़ा में बेतवा नदी के पवित्र उद्गम स्थल से अतिक्रमण हटाए जाने के संबंध में कहा गया है। बेतवा कुंड स्थल पर पुजारी गोपाल दास द्वारा एक बड़ा शेड तथा मकान बनाकर अतिक्रमण किया गया था। जिसे वन, राजस्व तथा पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा हटाया गया है।

कलेक्टर उमाशंकर भार्गव

कलेक्टर ने दी जानकारी-

पुलिस द्वारा हवाई फायर की घटना को कलेक्टर ने बताया पूर्णत: असत्य एवं निराधार, कहा-मंदिर सुरक्षित है। केवल उसके आसपास किया गया अतिक्रमण हटाया गया है। अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करने के पश्चात जब दस्ता वापस लौट रहा था तब कुछ लोगों द्वारा जंगल से गाड़ियों पर पथराव किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co