शिवराज ने IIFA2020 को लेकर प्रदेश सरकार पर कसा तंज

मध्यप्रदेश में आयोजित होने वाले आईफा अवार्ड को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, सरकार पहले प्रदेश की समस्याओं का हल करे।
शिवराज ने  IIFA2020 को लेकर प्रदेश सरकार पर कसा तंज
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहानSocial Media

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में आयोजित होने वाले आईफा अवार्ड(IIFA2020) को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, कांग्रेस सरकार पर सत्ता का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है। अतिथि विद्वानों और उनके परिवार की पीड़ा दूर करने और उनका हक देने की बजाय करोड़ों रुपए आईफा अवॉर्ड की चकाचौंध पर उड़ाने के लिए सरकार बावली है। अतिथि विद्वानों के बच्चों और परिवार की हाय सरकार को ले डूबेगी। अतिथि विद्वान नियमितिकरण की मांग कर रहे हैं। सरकार पहले प्रदेश की समस्याओं का हल करे।

आगे ट्वीट कर पूर्व सीएम ने लिखा, प्रदेश सरकार IIFA2020 में व्यस्त है। फिल्मी सितारों के ग्लैमर में मदहोश है। इसे आम जनता का दर्द दिखाई नहीं दे रहा है। गाड़ियां फूंकी जा रही हैं, गुंडों की पौ बारह है, चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची है, लेकिन सरकार कुंभकरणी निद्रा में सो रही, आखिर कब तक सोती रहेगी?

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने IIFA200 को लेकर कहा, मध्यप्रदेश की धरती पर दलितों आदिवासियों पर अत्याचार हो रहे हैं। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। बेरोजगार युवा हताश और अवसाद के शिकार हैं। खाली खजाने का हवाला देकर कमलनाथ सरकार गरीबों की योजनाओं को बंद कर रही है। वहीं दूसरी ओर आईफा अवार्ड के नाम पर सरकार अपनी वाहवाही में लगी हुई है।

यह आईफा अवार्ड प्रदेश की जनता के पैसों से कमलनाथ सरकार के नाकारापन, वादाखिलाफी और दलित और आदिवासियों पर बढ़ते अत्याचारों का जश्न है। गरीबों की चिंता करने की बजाय कमलनाथ सरकार फिल्म स्टारों की आवभगत में लगेगी। प्रदेश की जनता हलाकान और नाचने गाने वाले सरकारी मेहमान बनेंगे। सरकार में बैठे लोगों को आईफा अवार्ड जैसे नाच गाने का शौक है, तो बड़े शहरों में जाकर अपने पैसों से अपने शौक पूरे करें। जनता की गाढ़ी कमाई ऐसे आयोजनों पर खर्च करना जनता का अपमान है। जिसे प्रदेश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी।

नेता प्रतिपक्ष ने आगे कहा, एक तरफ कमलनाथ सरकार तत्कालीन भाजपा सरकार पर दोषारोपण करती है कि खजाना खाली छोड़ा है। लेकिन फिजूल खर्ची के लिए प्रदेश की कांग्रेस सरकार के पास पैसा कहां से आ रहा है। आईफा अवार्ड पर करीब 58 करोड़ से अधिक राशि खर्च करने जा रही है यह सरकार। इसकी तैयारियों के लिए सरकारी मशीनरी को लगाया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co