भगवान चित्रगुप्त पूजन की शुभकामनाएं
भगवान चित्रगुप्त पूजन की शुभकामनाएंSocial Media

मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने सभी को भगवान चित्रगुप्त पूजन की दी शुभकामनाएं, कही ये बात

भोपाल, मध्यप्रदेश : कमलनाथ ने ट्वीट कर जगतपिता ब्रह्मा के अंश, मानव जाति के कर्मों का लेखा-जोखा रखने वाले , लेखनी के आराध्य देव भगवान चित्रगुप्त जी के पूजन-दिवस की आप सभी को हार्दिक बधाई दी है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज चित्रगुप्त पूजन दिवस है। हिंदू धर्म में भगवान चित्रगुप्त को कर्मों का लेखा-जोखा रखने वाले देवता के रूप में पूजा जाता है। इस मौके पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभी को भगवान चित्रगुप्त पूजन की शुभकामनाएं देते हुए ये संदेश दिया है।

कमलनाथ ने किया ट्वीट :

पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि, “आप सभी को भगवान चित्रगुप्त पूजन की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। भगवान चित्रगुप्त मनुष्य के कर्मों का लेखा जोखा रखते हैं। उनका स्मरण हम सभी को जीवन में सदमार्ग पर चलने और अच्छे कर्म करने का संदेश देता है”

जगतपिता ब्रह्मा के अंश, मानव जाति के कर्मों का लेखा-जोखा रखने वाले , लेखनी के आराध्य देव भगवान चित्रगुप्त जी के पूजन-दिवस की आप सभी को हार्दिक बधाई।

कमलनाथ

समस्त देशवासियों-प्रदेशवासियों को चित्रगुप्त पूजा की हार्दिक बधाई: कांग्रेस

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा है कि, समस्त देशवासियों- प्रदेशवासियों को चित्रगुप्त पूजा की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं, भगवान चित्रगुप्त जी की कृपा आप सभी पर बनी रहे एवं आपके जीवन में खुशहाली व समृद्धि आए।

पीसी शर्मा ने भी किया ट्वीट :

कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने ट्वीट कर लिखा है कि, मसीभाजनसंयुक्तश्चरसि त्वं महीतले। लेखनी-कठिनीहस्ते चित्रगुप्त नमोऽस्तु ते।। परमपिता ब्रह्मा जी के अंश,बुद्धि, विवेक और ज्ञान के प्रदाता,समस्त प्राणी जगत के कर्मों का लेखा-जोखा रखने वाले, लेखनी के आराध्य देव भगवान चित्रगुप्त जी की जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं।

बता दें, दीपों के पंचमहापर्व के दूसरे दिन यानि कार्तिक मास के शुक्लपक्ष की द्वितीया के दिन भगवान चित्रगुप्त की पूजा का विधान है, लेकिन इस साल तिथियों के घटाव-बढ़ाव और सूर्य ग्रहण के चलते यह पर्व दिवाली के तीसरे दिन मनाया जा रहा है। सनातन परंपरा में भगवान चित्रगुप्त को सभी प्राणियों के कर्मों का लेखा-जोखा रखने वाला माना गया है। धार्मिक मान्यता है कि भगवान चित्रगुप्त पृथ्वी पर किसी भी प्राणी के जन्म लेने से लेकर मृत्यु तक का सारा लेखा-जोखा उसके कर्मों के अनुसार अपनी पुस्तक में लिखते रहते है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co