भाजपा प्रत्याशियों पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्गी ने साधा निशाना
भाजपा प्रत्याशियों पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्गी ने साधा निशाना|Deepika Pal - RE
मध्य प्रदेश

फ्लोर टेस्ट से हटकर अब आपत्तियां दर्ज कराने में जुटी कांग्रेस

भोपाल, मध्यप्रदेश: प्रदेश में सियासी तिकड़म के बीच नया मामला आया सामने, राज्यसभा चुनाव के नामांकन को लेकर भाजपा प्रत्याशियों पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्गी ने साधा निशाना।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में बीते दिनों से प्रदेश में सियासती भूचाल मचा हुआ है जो थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं आगामी राज्यसभा चुनाव की तारीख भी नजदीक आ रही है इस बीच ही राज्यसभा चुनाव के नामांकन को लेकर एक नया मामला सामने आया है जिसमें भाजपा प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया के नामांकन पत्र पर कांग्रेस प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आपत्ति लगाई है। साथ ही एक अन्य भाजपा प्रत्याशी डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी के नामांकन पत्र पर भी प्रश्नचिन्ह लगाया है।

बीजेपी और कांग्रेस के प्रत्याशियों ने नामांकन कराए थे दर्ज

हाल ही में राज्यसभा की खाली हुई तीन सीटों पर चुनाव के लिए बीजेपी समेत कांग्रेस के 5 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल करवाए थे। जहां कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया के नामांकन पत्र जांच में सही पाए गए और उनके नामांकन पत्र भी स्वीकार किए गए थे। लेकिन इधर भाजपा के तीन प्रत्याशियों ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुमेरसिंह सोलंकी और रंजना बघेल के नामांकन दाखिल कराए थे। जिसमें रंजना बघेल के नामांकन पत्र को छोड़कर सिंधिया समेत सोलंकी के नामांकनों पर कांग्रेस ने आपत्ति दर्ज कराई है।

पूरी जानकारी ना देने का लगाया आरोप

इस संबंध में भाजपा प्रत्याशी सिंधिया के नामांकन पत्र पर आपत्ति जताते हुए पूर्व मंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि, उन्होंने आपराधिक प्रकरणों की पूरी जानकारी नहीं दी है। इधर प्रदेश कांग्रेस के चुनाव कार्य प्रभारी जेपी धनोपिया की शिकायत करते हुए कहा कि, भाजपा के दूसरे प्रत्याशी सुमेरसिंह सोलंकी ने 13 मार्च को नामांकन पत्र भरा था, लेकिन उनका इस्तीफा 14 मार्च को मंजूर हुआ। उससे पहले प्रत्याशी सोलंकी उच्च शिक्षा विभाग में सहायक प्राध्यापक थे और राज्यसभा प्रत्याशी बनाए जाने के बाद 12 मार्च को इस्तीफा दिया था और उसे राज्य शासन ने 14 मार्च को स्वीकार किया। नामांकन पत्र दाखिल करने के समय वह सरकारी नौकरी में थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co