फिर चर्चा में आया पूर्व मंत्री शिवराज का बयान
फिर चर्चा में आया पूर्व मंत्री शिवराज का बयान|Deepika Pal - RE
मध्य प्रदेश

सरकार बनाने की जल्दी में शिवराज: उठाये कई सवाल

भोपाल, मध्यप्रदेश: प्रदेश के सियासी तिकड़म में कई मुद्दों को लेकर फिर शुरू हुआ बयानबाजी का दौर फिर चर्चा में आया पूर्व मंत्री शिवराज का बयान।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के सियासी रंगमंच में कब क्या नया मोड़ आ जाए इसकी कल्पना नहीं की जा सकती है फ्लोर टेस्ट और विधानसभा सत्र के बाद अब बेंगलुरु में आयोजित हुई बागी विधायकों की प्रेस कांफ्रेन्स को लेकर शुरू हुआ बयानबाजी का दौर। इस बीच ही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बागी विधायकों की प्रेस कांफ्रेन्स से जुड़कर कमलनाथ सरकार के खिलाफ बयान जारी किया है। जिसमें कहा कि, विधायक साथियों ने जब स्पष्ट किया है कि वे अपनी मर्जी से सरकार के खिलाफ गए हैं तो अब फ्लोर टेस्ट होना चाहिए।

बहुमत है तो भागते क्यों हो - पूर्व मंत्री शिवराज

इस दौरान बयान देते हुए फ्लोर टेस्ट के अलावा कई मुद्दों पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि, हाल ही में आयोजित हुई विधायक साथियों की प्रेस कांफ्रेन्स में जब स्पष्ट हो गया है कि सभी विधायक अपनी मर्जी से सरकार के खिलाफ गए हैं तो फिर अब कमलनाथ जी को इधर- उधर की बात ना कर जल्दी फ्लोर टेस्ट करवाना होगा। इससे दूध का दूध पानी हो जाएगा। अगर बहुमत में हो तो भागते क्यों हो। यह टाइम खींचने का प्रयास है। सभी प्रयास कर रहे हैं कि, कांग्रेस सरकार बच जाए लेकिन अब ये सरकार बच नहीं सकती है। साथ ही दावा करते हुए कहा कि, वर्तमान कमलनाथ सरकार निश्चित रूप से गिरेगी।

नियुक्तियों के फैसले पर उठाए सवाल

इस संबंध में हाल ही में महिला आयोग अध्यक्ष और पीएसी की नियुक्तियों पर सवाल उठाते हुए पूर्व मंत्री शिवराज ने कहा कि, जाते-जाते जितना लोगों को उपकृत कर सकते हैं करने की कोशिश कर रही है सरकार। लेकिन अब इन नियुक्तियों के काम दूसरों को करने है। साथ ही राज्यपाल से शिकायत कर इन नियुक्तियों को अवैधानिक करार देने की बात कही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co