एन 95 मास्क के नाम पर साढ़े 14 लाख ठगे
एन 95 मास्क के नाम पर साढ़े 14 लाख ठगे|Raj Express
मध्य प्रदेश

इंदौर: एन 95 मास्क के नाम पर साढ़े 14 लाख ठगे

इंदौर, मध्य प्रदेश: मौकापरस्त लोगों के लिए महामारी का समय सुनहरा मौका बना गया है, लोगों को बेवकूफ बना कर, कर रहे हैं लाखों की ठगी। मामला इंदौर का जहाँ दवा कारोबारी से हुई लाखों की ठगी।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

इंदौर, मध्य प्रदेश। कोरोना काल के चलते ऑनलाईन मास्क बेचने वालों के लालच में दवा कारोबारी फंस गया। उसने सस्ते दाम पर एन 95 मास्क खरीदने के लालच में साढ़े 14 लाख रुपए गंवा दिए। फरियादी की शिकायत पर तुकोगंज पुलिस ने केस दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार प्रतीक संकेती निवासी बंगाली चौराहे के साथ ठगी की वारदात हुई है। प्रतीक का साउथ तुकोगंज स्थित देवदर्शन बिल्डिंग में कार्यालय है। प्रतीक से ऑनलाईन और मोबाइल फोन पर अज्ञात लोगों ने संपर्क कर एन-95 मास्क सस्ते में बेचने की पेशकश की। सौदा तय होने के बाद प्रतीक ने उनके खाते में 14 लाख 50 हजार रुपए जमा करवा दिए। कई दिनों तक मास्क नहीं मिलने पर प्रतीक ने उक्त नंबरों पर फोन लगाया लेकिन बंद मिले। ठगी का पता चलने पर उसने पुलिस को शिकायत की। जांच के बाद पुलिस ने तीन अज्ञात मोबाइल नंबर धारकों के खिलाफ जालसाजी का मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

इनवेस्टमेंट के नाम पर लाखों ठगे :

अन्नपूर्णा थाना क्षेत्र में रहने वाले परिवार के साथ दो लोगों ने नेशनल कंपनियों में इनवेस्ट के नाम पर लाखों की जालसाजी कर दी। पुलिस ने बताया कि गौरव मूले निवासी वैशाली नगर ने रिपोर्ट लिखाई है कि ओबा सेटेलाइट कम्प्युनिकेशन के डायरेक्टर रवि तिवारी निवासी संगमनगर और नीरज शुक्ला 2018 में उससे मिले और बताया कि उनका बड़ी-बड़ी कंपनियों से टाईअप है। इनमें इनवेस्ट करने पर अच्छा फायदा हो सकता है। गौरव उनके झांसे में आ गया और उसने 27 लाख 65 हजार रुपए रवि और नीरज के हवाले कर दिया। इसके बाद दोनों ठगोरों ने हाथ खड़े कर दिए। इस पर गौरव ने पुलिस की शरण ली। प्रकरण दर्ज करने के साथ ही पुलिस ने रवि को गिरफ्तार कर लिया। उसने रुपए दूसरी जगह खर्च करना बताया है। पुलिस उसके साथी की तलाश कर रही है।

पर्सनल लोन के नाम पर ठगी :

शिप्रा पुलिस ने फरियादी शिवानंद मिश्रा की शिकायत पर सिद्धार्थ राय, सोनिया जैन और नितेश जाधव निवासी दिल्ली के खिलाफ केस दर्ज किया है। फरियादी के अनुसार आरोपियों ने पर्सनल लोन के लिए संपर्क किया था। जरूरत होने के चलते उसने हां कर दी। इसके बाद आरोपियों ने कंसलटेंसी फीस, अप्रूवल और अन्य कारण बताकर उससे 43 हजार 730 रुपए ठग लिए। पुलिस ने तीनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co