कोरोना के विरुद्ध मुख्यमंत्री से लेकर पंच तक एक हों : शिवराज सिंह चौहान
कोरोना के विरुद्ध मुख्यमंत्री से लेकर पंच तक एक हों : शिवराज सिंह चौहानSocial Media

कोरोना के विरुद्ध मुख्यमंत्री से लेकर पंच तक एक हों : शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवास से ग्रामीण क्षेत्रों और ग्रामीण निकायों के जन-प्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना प्रबंधन के संबंध में चर्चा की।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना के विरुद्ध युद्ध में मुख्यमंत्री से लेकर पंच तक एक हो जाएं तो कोरोना को पराजित किया जा सकता है। यदि हमने हमारा गांव बचा लिया, तो हम प्रदेश और देश को बचाने में भी सफल हो जाएंगे। कोरोना का संकट बड़ा है पर हमारा हौसला उससे भी ज्यादा बड़ा है। श्री चौहान निवास से ग्रामीण क्षेत्रों और ग्रामीण निकायों के जन-प्रतिनिधियों से कोरोना प्रबंधन के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि कोरोना के विरुद्ध यह लड़ाई योजनाबद्ध तरीके से लड़ी जाएगी। इसकी रणनीति के अंतर्गत दो स्तरों पर कार्य करना है। प्रथम जो संक्रमित हो गए हैं उनका बेहतर इलाज सुनिश्चित हो और दूसरा संक्रमण की चेन टूटे। कोरोना रूपी राक्षस अपनी शक्ति भीड़-भाड़ से पाता है। अत: संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए भीड़ की संभावनाओं को शून्य करना होगा। जो शादी, विवाह टाले जा सकते हैं, उन्हें अपने और देश के हित में टालें। हम प्रण लें कि भीड़ इकठ्ठी नहीं होने देंगे। प्रदेश की 14 हजार 700 पंचायतों ने स्व-प्रेरणा से जनता कर्फ्यू लगाया है। गांव वाले स्वयं कोरोना कर्फ्यू का क्रियान्वयन कर रहे हैं। पिछले दिनों प्रभावी रहे इस प्रयास से कई जिलों का पॉजिटिविटी रेट घटा है।

श्री चौहान ने कहा कि जो व्यक्ति कोरोना से प्रभावित हैं, उनके इलाज की घर पर ही व्यवस्था के लिए होम आयसोलेशन के अंतर्गत डॉक्टरी सलाह और सावधानियों की जानकारी देने की व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य विभाग के लिए योग प्रशिक्षकों को भी जोड़ा जा रहा है। जिन लोगों के घरों में आयसोलेशन की व्यवस्था नहीं है, ऐसे मरीजों के लिए कोविड केयर सेंटर में व्यवस्था की गई है। जिन गांवों में सर्दी, खांसी, जुकाम ज्यादा लोगों को है या कोरोना के संभावित व्यक्ति हैं, वहाँ पंच, सरपंच, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, पंचायत सचिव, रोजगार सहायक मिलकर घर-घर सर्वे करें और हर बीमार व्यक्ति को मेडिकल किट उपलब्ध कराई जाए। छिंदवाड़ा, खंडवा, बुरहानपुर में इस दिशा में हुए कार्य से संक्रमण की दर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। प्रदेश में अब प्रतिदिन 9 से 10 हजार व्यक्ति स्वस्थ हो रहे हैं।

श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के कठिन काल में ग्रामीण भाइयों, मजदूरों, किसानों का हरसंभव ध्यान रखा जा रहा है। तीन महीने का नि:शुल्क राशन उपलब्ध कराने के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स के खाते में एक-एक हजार रूपए डाले जा रहे हैं। प्रदेश में एक मई से 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जाएगा। ग्राम स्तर पर अधिक से अधिक व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया जाए।श्री चौहान ने कहा कि स्व-सहायता समूहों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोरोना संक्रमण के विरुद्ध जागरूकता और संक्रमण की चेन तोड़ने और होम आयसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों की देखभाल में यह समूह सहयोगी रहते हुए सक्रिय रहेंगे। ग्राम स्तर पर साफ-सफाई और स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सहयोग, समन्वय और सछ्वाव से ही कोरोना के विरुद्ध विजय प्राप्त होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co