जबलपुर में विश्व सिकल सेल दिवस पर आयोजित कार्यशाला का राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ
जबलपुर में विश्व सिकल सेल दिवस पर आयोजित कार्यशालाSocial Media

जबलपुर में विश्व सिकल सेल दिवस पर आयोजित कार्यशाला का राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

जबलपुर, मध्यप्रदेश। विश्व सिकल सेल दिवस के अवसर पर जबलपुर में आयोजित कार्यशाला, राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

जबलपुर, मध्यप्रदेश। हर साल 19 जून को विश्व सिकल सेल दिवस मनाया जाता है। आज विश्व सिकल सेल दिवस (World Sickle Cell Day 2022) पर जबलपुर में आयोजित कार्यशाला का राज्यपाल मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया है। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने एवं अन्य गणमान्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

विश्व सिकल सेल दिवस के अवसर पर जबलपुर में आयोजित कार्यशाला

सिकल सेल एनीमिया पर आधारित गीत का विमोचन :

जबलपुर में राज्यपाल मंगुभाई पटेल के साथ मुख्यमंत्री ने सिकल सेल एनीमिया पर आधारित गीत का विमोचन किया। वही सिकल सेल एनीमिया पर केंद्रित पोर्टल का शुभारंभ किया है।इस मौके पर सीएम शिवराज ने कहा कि, जिन्हें सिकल सेल एनीमिया है, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है।

"माननीय अटल जी ने कहा था कि हार नहीं मानूंगा, रार नई ठानूंगा।

काल के कपाल पर लिखता हूं,

मिटाता हूं, गीत नया गाता हूं।

हम लड़ेंगे और निश्चित तौर पर जीतेंगे"

हम सिकल सेल एनीमिया के संबंध में प्रदेश में जनजागरण का अभियान चलायेंगे : CM

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि, हम सिकल सेल एनीमिया के संबंध में पूरे मध्यप्रदेश में जनजागरण का अभियान चलायेंगे। केवल दो जिलों में नहीं, बल्कि सभी प्रभावित जिलों में स्क्रीनिंग का काम किया जायेगा। हमारी आशा कार्यकर्ता बहनें घर-घर जायेंगी और सिकल सेल एनीमिया के लिए लोगों को जागृत करेंगी।

  • योग, आयुर्वेद और जड़ी-बूटियों का भी सिकल सेल एनीमिया की रोकथाम में उपयोग किया जायेगा।

  • हम टास्क फोर्स बनायेंगे, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ सामाजिक कार्यकर्ता या जिनमें इस बीमारी से लड़ने की प्रबल इच्छा है, को भी इसमें जोड़ेंगे।

  • जनभागीदारी के मॉडल से प्रदेश से सिकल सेल बीमारी को खत्म किया जाएगा। स्क्रीनिंग का अभियान केवल दो जिलों में ही नहीं बल्कि सभी जिलों में चलेगा।

  • कोई भी सिकल सेल का मरीज खुद को अकेला न समझे, उनके साथ सरकार खड़ी है। एलोपैथी, आयुर्वेदिक समेत हर पद्धति से सिकल सेल मरीजों को इलाज मुहैया कराया जाएगा।

जो सिकल सेल एनीमिया से प्रभावित हैं, वे स्वयं को अकेला न समझें। आपके साथ माननीय प्रधानमंत्री के साथ पूरा स्वास्थ्य विभाग और मामा भी आपके साथ है। हम मिलकर इस बीमारी से लड़ेंगे और जीतेंगे भी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

जबलपुर में आयोजित कार्यशाला में राज्यपाल ने कहा-

वहीं विश्व सिकल सेल दिवस पर जबलपुर में आयोजित कार्यशाला में राज्यपाल ने कहा कि, सिकल सेल बीमारी कोविड-19 से भी ज्यादा गंभीर बीमारी है। ये पूरी दुनिया में है। जन्मजात जानलेवा बीमारी का होना सभ्य समाज और सरकार दोनों के लिए चिंतन और चिंता का विषय है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co