Raj Express
www.rajexpress.co
नवनिर्मित पं.शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय
नवनिर्मित पं.शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय |Shubham Tiwari
मध्य प्रदेश

पंडित शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय का लोकार्पण करेंगे राज्यपाल

शहडोल, मध्यप्रदेश : नवनिर्मित पं.शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय का राज्यपाल द्वारा लोकार्पण, उच्च शिक्षा मंत्री पटवारी व प्रभारी मंत्री देंगे उद्बोधन ।

Shubham Tiwari

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के शहडोल संभाग में प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा नवनिर्मित विश्वविद्यालय के भवन का लोकार्पण आगामी शनिवार को किया जाएगा। जिसके निर्माण की घोषणा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की थी, जिसे अमली जामा पहनाने की तैयारी शुरू हो गई थी। कॉलेजों में छात्रों, प्रोफेसरों एवं अन्य गतिविधियों के लिये रीवा स्थित एपीएस विश्वविद्यालय जाकर अपने कार्यों को पूर्ण करने होते थे जिसके मद्देनजर यह फैसला लिया गया गया था। जिसके निर्माण की प्रक्रिया लोक निर्माण विभाग पीआईयू एवं प्रशासनिक सहयोग से की गई ।

क्या रही पृष्ठभूमि :

पंडित शंभूनाथ शुक्ला शासकीय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय शहडोल का विश्वविद्यालय में उन्नयन किया गया। इसके लिये घोषणा के तत्काल बाद से ही सारी व्यवस्थाओं को अंजाम देना शुरू किया गया। विश्वविद्यालय को 20 मई 2016 में 43.503 एकड़ भूमि प्राप्त हुई थी, जिस पर प्रशासकीय स्वीकृति के बाद राशि 44 करोड़ रुपए तय की गई थी। जिसके बाद 5 जुलाई 2016 को मध्यप्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग भोपाल द्वारा 42 करोड़ रूपये की तकनीकी प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हुई।

कब पूर्ण करना था कार्य:

अनुबंध के अनुसार संबंधित निविदाकार को दो वर्ष का समय दिया गया। जिसमें 30 सितम्बर 2018 को यह कार्य पूर्ण कर देना था। लेकिन विश्वविद्यालय लगभग 8 माह देरी से पूर्ण हो पाया।

बताया जाता है कि प्रस्तावित भूमि का जब सीमांकन कराया गया तो सीमा विवाद की वजह से भूमि में बदलाव भी किया गया। जिसकी वजह से इस कार्य में विलंब हुआ।

भवनों का हुआ निर्माण :

विश्वविद्यालय परिसर में प्रशासकीय भवन, प्रशासनिक भवन, लायब्रेरी भवन, ब्यॉज हॉस्टल, गर्ल्स हॉस्टल, बहुउद्देशीय भवन, कैंटीन भवन, कुलपति भवन, विकास कार्य भवन, विद्युत कार्य भवन के साथ ही अन्य भवनों का निर्माण किया गया है जिससे विश्वविद्यालय प्रबंधन को कार्य करने में असुविधा का सामना न करना पड़े। निर्माण के दौरान सीसी रोड 1591 मीटर तथा बाउण्ड्रीवाल 4850 मीटर लंबाई की बनाई गई है। भवन में स्वच्छता एवं अन्य संसाधनों को लेकर भी विशेष ध्यान रखा गया है जिससे भविष्य में किसी प्रकार अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को परेशानी न हो।

ये होंगे विभाग :

इस नवीन विश्वविद्यालय भवन में 23 विभागों का संचालन किया जायेगा तथा हर विभागाध्यक्ष अपने-अपने विभागों का नेतृत्व करेंगें। 112 प्राध्यापकों के माध्यम से इस विश्वविद्यालय में छात्रों को शिक्षा दी जाएगी। गौरतलब है कि आर्ट, कॉमर्स, म्यूजिक, कम्प्यूटर साईंस, स्पोर्टस जैसे महत्वपूर्ण विभागों पर गौर किया गया है। इन सारे विभागों के लिये अलग-अलग सुविधाएं मुहैया कराने के साथ ही विश्वविद्यालय परिसर में छात्र-छात्राओं के लिये अलग-अलग छात्रावास की व्यवस्था भी की गई हैं जहां दूरस्थ ग्रामीण अंचलों एवं अन्य जगहों से आये छात्र शिक्षा का लाभ ले सकें।

तय समय पर होगी कार्यक्रम की शुरूआत:

विश्वविद्यालय के लोकार्पण का कार्यक्रम प्रात: 11 बजे से शुरू होगा। जिसमें मुख्य अतिथि राज्यपाल लालजी टंडन के आगमन के बाद ही कार्यक्रम की शुरूआत और विश्वविद्यालय का उद्घाटन किया जाएगा। इस कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू् पटवारी, क्षेत्रीय विधायक जय सिंह मरावी के साथ जिला अधिकारी और विश्वविद्यालय के कुलपति मौजूद रहेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।