उपचुनाव से पहले बवाल, इन दो मंत्रियों ने शिवराज कैबिनेट से दिया इस्तीफा

भोपाल, मध्यप्रदेश : शिवराज कैबिनेट के दो मंत्रियों तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कानून के आड़े आने की बात सामने आ रही है।
उपचुनाव से पहले बवाल, इन दो मंत्रियों ने शिवराज कैबिनेट से दिया इस्तीफा
इन दो मंत्रियों ने शिवराज कैबिनेट से दिया इस्तीफाSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में महामारी कोरोना का संकट जहां थमता जा रहा है वहीं इस संकटकाल के बीच आगामी उपचुनाव से पहले ही एक के बाद एक नए मुद्दे सामने आते जा रहे हैं जहां बीते दिन प्रदेश की शिवराज कैबिनेट के दो मंत्रियों तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जिसके पीछे कानून के आड़े आने की बात सामने आ रही है।

इस्तीफा सौंपने के बाद मंत्री सिलावट ने कही ये बात :

इस संबंध में, बीते दिन मंगलवार को जल संसाधन मंत्री सिलावट ने मुख्यमंत्री को इस्तीफा भेज दिया था। जहां मंत्री पद जाने के साथ ही उन्हें मिलने वाली सभी सुविधाएं छिन गई हैं। बताते चलें कि, दरअसल, सिलावट ने कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद 21 अप्रैल को भाजपा की सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी। जिसे लेकर सिलावट ने कहा कि, मैंने कल ही इस्तीफा दे दिया। पद मेरे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। मेरे लिए सेवा, मप्र का विकास और प्रगति महत्वपूर्ण है। मैंने पहले भी कांग्रेस छोड़ी, विधायक और मंत्री पद छोड़ा, अभी भी इस्तीफा दे दिया। त्याग-समर्पण मेरी भावना है।

ये है नियम :

इस संबंध में नियमों के अनुसार कहा गया है कि, कोई भी ऐसा व्यक्ति 6 माह से ज्यादा समय के लिए मंत्री नहीं रह सकता है, जो विधानसभा का सदस्य न हो। इस हिसाब से 21 अक्टूबर को दोनों मंत्रियों की यह समय-सीमा समाप्त हो जाएगी। इस समय-सीमा में उपचुनाव की प्रक्रिया भी पूरी नहीं होगी।

इनको सौंपा जा सकता है प्रभार :

इस संबंध में बताया जा रहा है कि, मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट के पद छोड़ने के बाद अब राजस्व विभाग का अतिरिक्त प्रभार मंत्री कमल पटेल या अरविंद भदौरिया को सौंपा जा सकता है वहीं जल संसाधन विभाग का प्रभार मंत्री नरोत्तम मिश्रा या भूपेन्द्र सिंह को दिया जा सकता है।

कांग्रेस ने की शिवराज कैबिनेट भंग करने की मांग :

इस संबंध में बताया जा रहा है कि, कांग्रेस की ओर से पूर्व मंत्री सज्जन सिंह ने राज्यपाल आंनदी बेन पटेल से शिवराज कैबिनेट भंग करने की मांग की है। अपील करते हुए कहा कि, इस्तीफा दिए मंत्रियों का कार्यकाल समाप्त हो गया है जिसके चलते पूरी शिवराज कैबिनेट को भंग कर देना चाहिए। साथ ही कहा कि, शिवराज सरकार ने मंत्रियों को बिना विधायकी के मंत्री बनाया ये गलत है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co