कोरोना मुक्त हुआ ग्वालियर, सावधानी अभी जरूरी है
कोरोना मुक्त हुआ ग्वालियरसांकेतिक चित्र

कोरोना मुक्त हुआ ग्वालियर, सावधानी अभी जरूरी है

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : जिले में कोरोना एक्टिव केस हुए शून्य, संक्रमित मिला और ना हुई कोई मौत। विभाग ने दावा किया है कि 23 मार्च 2020 के बाद पहली बार शून्य हुई संक्रमित मरीजों की संख्या।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। कोरोना से ग्वालियर जिला मुक्त हो चुका है। जिले में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या शून्य हो गई है। वहीं बुधवार को एक भी संक्रमित नहीं मिला और मौत भी नहीं हुई है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने दावा करते हुए बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है कि कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या शून्य हुई हो। इस शून्य तक पहुंचने में जिले के स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम, प्रशासन की अहम भूमिका रही है। लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि खुशी ना मनायें, अभी भी सावधानी बरतें और कोविड नियमों का पालन करें।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार बुधवार को कोरोना का एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला। एक मरीज भर्ती था, जिसे बुधवार को डिस्चार्ज कर दिया। इससे जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या शून्य हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने दावा करते हुए बताया कि 23 मार्च 2020 में कोरोना का पहला केस चेतकपुरी में मिला था। जब से ही लगातार कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे थे। हालांकि बीच-बीच में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने की संख्या शून्य रही है, लेकिन एक्टिव केस मरीजों की संख्या शून्य पहली बार हुई है। अच्छी बात यह है कि बुधवार को एक भी संक्रमित नहीं मिला और कोविड से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई।

इनकी रही सरहानीय भूमिका :

जिले के चिकित्सक, संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना, कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, एसपी अमित संघी, नागर निगम कमिश्नर किशोर कान्याल समेत सभी अधिकारियों के टीम वर्क के कारण शहरवासियों को आज एक खुशखबरी मिली की कोरोना का अब एक भी एक्टिव केश नहीं है। पिछले लंम्बे समय से कोरोना के खिलाफ वरती गई सख्ती का नतीजा है कि कोरोना से संक्रमित मरीजों के बेड खाली हो गए।

अब भी सतर्क रहने की जरूरत :

भले ही अब कोई एक्टिव केस नहीं है, मगर अब भी अलर्ट रहने की जरूरत है, क्योंकि डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी घर किये बैठी है । कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनते रहें और सेनेटाइजर के उपयोग के साथ-साथ दूरी बनाकर रखें।

यह बरतें सावधानीं :

  • कोरोना से बचाव करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

  • भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मास्क का प्रयोग अवश्य करें।

  • अगर वैक्सीन का एक भी डोज आपने अभी तक नहीं लिया है तो वैक्सीन अवश्य लगवायें।

  • अनावश्यक यात्रा करने से परहेज करें।

इनका कहना है :

एक्टिव केस मरीजों की संख्या शून्य हुई है। यह अच्छी बात है, लेकिन हमें खुशी नहीं मनाना है बल्कि और अधिक सावधानी बरतनी है। तभी इस कोरोना जैसी भयानक बीमारी से बचा जा सकता है। मेरी सभी लोगों से अपील है कि वैक्सीन का प्रथम और द्वितीय डोज अपने नजदीकी टीकाकरण केन्द्र पर पहुंचकर अवश्य लगवायें।

डॉ.मनीष शर्मा, सीएमएचओ, ग्वालियर

एक्टिव केस शून्य हुए हैं। इससे खुश नहीं हो। महाराष्ट्र में स्थिति खराब होती जा रही है। प्रतिदिन नए एक्टिव केस मिल रहे हैं। दशहर और दीपावली के बाद कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढऩे की संभावना है। इसलिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अनावश्यक यात्रा से परहेज करें। अगर वैक्सीन का पहला डोज ले लिया तो दूसरा डोज अवश्य लगवा लें।

अमित रघुवंशी, नोडल अधिकारी, कोविड

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.