ग्वालियर : कोरोना संक्रमण की जांच में ग्वालियर आया 51वें नम्बर पर

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : प्रदेश के 52 जिलों में कोरोना की जांच में ग्वालियर दूसरे स्थान पर आया है। यहां सबसे कम कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच की गई है। पहले स्थान पर आगर मालवा जिला आया है।
ग्वालियर : कोरोना संक्रमण की जांच में ग्वालियर आया 51वें नम्बर पर
कोरोना संक्रमण की जांच में ग्वालियर आया 51वें नम्बर परSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। प्रदेश के 52 जिलों में कोरोना की जांच में ग्वालियर दूसरे स्थान पर आया है। यहां सबसे कम कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच की गई है। पहले स्थान पर आगर मालवा जिला आया है। स्वास्थ्य विभाग के आलाधिकारियों ने यह स्थान पिछले सात दिनों के आंकड़ों को देखकर दिया है। इसमें ग्वालियर 51वें नम्बर पर आया।

भोपाल से मिले निर्देश पर हर दिन जिले में 2 हजार कोरोना सैंपल किए जाने थे। एक हजार सैंपल रैपिड एंटीजन और एक हजार सैंपल आरटीपीसीआर के लिए निर्धारित किए गए थे। लेकिन निर्धारित आंकड़ों के हिसाब से जांच नहीं हो रही है। जिला अस्पताल व जेएएच को मिलाकर रैपिड एंटीजन टेस्ट प्रतिदिन महज 479 हुए जबकि जेएएच में हो रही आरटीपीसीआर सैंपल की संख्या 570 है, जो निर्धारित मापदंड से काफी कम है। जबकि ग्वालियर की आबादी 20 लाख है। उसके बाद भी यहां जांचे कम हो रही हैं। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग ने चिंता जाहिर की है। इसके साथ ही जिले के स्वास्थ्य महकमे और जेएएच समूह को जांच सैंपल बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। सैंपलिंग कम होने से कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आई है।

यहां बता दें कि शासन के निर्देश के अनुसार जांच सैंपल बढ़ाए जाने थे। लेकिन अक्टूबर माह में सैम्पलों की संख्या कम हो गई। सैंपलिंग कम होने से कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आई है। इससे लोग अच्छा महसूस कर रहे है। इससे जिससे लापरवाही बढ़ने लगी है। कोरोना से बचने के लिए मास्क, शारीरिक दूरी का पालन करना भी घट गया, बाजारों में भीड़ उमड़ रही है। इसके आने वाले समय में बुरे परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

ओपीडी में बढ़ी मरीजों की संख्या

जयारोग्य अस्पताल की माधव डिस्पेंसरी में संचालित होने वाली ओपीडी में प्रतिदिन करीब 1500 मरीज प्रतिदिन उपचार के लिए पहुंच रहे हैं। जबकि जिला अस्पताल सहित अन्य फीवर क्लीनिक की बात करें तो वहां पर भी करीब 500 से अधिक मरीज इलाज लेने पहुंचते हैं। लेकिन कोरोना की जांच दोनों ही स्थान पर कम हो रही हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co