ग्वालियर : शहर को स्वच्छता रैंकिंग में अव्वल लाने मिलेंगे 50 नए वाहन
शहर को स्वच्छता रैंकिंग में अव्वल लाने मिलेंगे 50 नए वाहन । Manish Sharma

ग्वालियर : शहर को स्वच्छता रैंकिंग में अव्वल लाने मिलेंगे 50 नए वाहन

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : 20 दिन के भीतर नगर निगम को पचास कचरा वाहन और मिल जाएंगे, इसके बाद वाहनों की संख्या पर्याप्त होगी और शहर में सफाई व्यवस्था पर इसका असर भी दिखाई देगा।

ग्वालियर,मध्यप्रदेश। शहर को स्वच्छता रैंकिग में अव्वल लाने के लिए नगर निगम द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसे अब और गति मिल सकेगी। निगम के बेड़े में आधा सैकड़ा और नए वाहन शामिल होने जा रहे हैं। इसके बाद स्वच्छता मिशन को और गति मिल सकेगी। बीते साल निगम को स्वच्छता रैंकिंग में तीसरा स्थान मिला था, इस बार कोशिश यह है कि ग्वालियर को पहला स्थान मिल सके। निगम की लगातार कोशिश शहर में दिखाई भी देने लगी है, यह बात अलग है कि अब भी पिछड़े क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था के हालात कुछ ठीक नहीं हैं।

पूर्व में नगर निगम की सफाई व्यवस्था पूरी तरह ईकोग्रीन कंपनी पर निर्भर थी, जिसे हर माह एक मोटी रकम का भुगतान नगर निगम द्वारा किया जाता था, इसके बावजूद उसकी मनमानी चरम पर थी और हर कुछ रोज बाद कंपनी के कर्मचारी हड़ताल कर देते थे, ऐसे में शहर कभी पूरी तरह साफ हो ही नहीं सका। इसके बाद अचानक ही कंपनी ने निगम से पल्ला झाड़ लिया था, इसके बाद तो हालात बिगड़ते चले गए थे। एक तो कर्मचारी निगम के पास पर्याप्त संख्या में नहीं थे, वहीं वाहनों का टोटा था, कंपनी ने वाहन भी अपने कब्जे में ले लिए थे, जब बात बढ़ी तो फिर प्रशासन ने जोर डालकर इनके कब्जे से कुछ कचरा वाहनों को मुक्त कराकर निगम के हवाले किया। इसमें भी अधिकांश वाहन बेहद कंडम थे, जिससे सफाई का काम बाधित होता रहा। बाद में कंपनी के कर्मचारियों को आउटसोर्स के जरिए निगम में काम पर लिया गया और जैसे-तैसे सफाई व्यवस्था को गति देने का प्रयास किया गया, कुछ कंडम वाहनों को रिपेयर कर काम पर लगाया गया, लेकिन बात नहीं बनी।

पहले खरीदे थे 50 वाहन

सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए 50 नए वाहन खरीदे गए और 26 जनवरी को इन्हें निगम के बेड़े में शामिल कर लिया गया। जिससे शहर में कचरे को समेटने में कुछ मदद तो मिली, लेकिन समूचे हालात नहीं सुधर सके। इन हालात के मद्देनजर एक बार फिर नए वाहन खरीदने की कवायद शुरु हुई और अब 50 नए वाहन और निगम के बेड़े में शामिल होने जा रहे हैं। इनकी खेप जल्द ही निगम को मिल जाएगी। बीते 12 साल से निगम ने नए वाहन नहीं खरीदे थे। नगर निगम के पास अब कुल कचरा वाहनों के साथ ही डंपर, ट्रैक्टर और अन्य वाहन मिलाकर ढाई सौ वाहन हो जाएंगे।

इनका कहना :

20 दिन के भीतर नगर निगम को पचास कचरा वाहन और मिल जाएंगे, इसके बाद वाहनों की संख्या पर्याप्त होगी और शहर में सफाई व्यवस्था पर इसका असर भी दिखाई देगा। इसके साथ ही नागरिकों से भी आग्रह है कि वह शहर को साफ रखने में निगम का सहयोग करें। शहर सभी का है।

नरोत्तम भार्गव, अपर आयुक्त ननि ग्वालियर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co