ग्वालियर : जेयू एक साल में घोषित नहीं कर पाया 12 छात्रों का रिजल्ट
1 साल में 12 छात्रों का रिजल्ट घोषित नहीं कर पाया जेयू।Manish Sharma

ग्वालियर : जेयू एक साल में घोषित नहीं कर पाया 12 छात्रों का रिजल्ट

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : जीवाजी विश्वविद्यालय के आलाधिकारी बीएड पार्ट टाइम सेकंड सेम के सिर्फ12 छात्रों का रिजल्ट एक साल में भी घोषित नहीं हो पाया है।

हाइलाइट्स

  • अधिकारी रिजल्ट घोषित करने में नहीं दिखा रहे रुचि

  • जेयू ने फरवरी 2020 में कराईं थीं बीएड की परीक्षा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश । जीवाजी विश्वविद्यालय के गोपनीय व परीक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारी- कर्मचारी अपने कार्य के प्रति कितने लापरवाह हैं, इसकी पोल बीएड पार्ट टाइम के छोटे से रिजल्ट से खुल रही है। जानकर हैरानी होगी कि बीएड पार्ट टाइम सेकंड सेम के सिर्फ12 छात्रों का रिजल्ट एक साल में भी घोषित नहीं हो पाया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि रिजल्ट्स को लेकर जेयू में किस हद तक लापरवाही बरती जा रही है। इस रिजल्ट को घोषित करने के लिए पिछले कई महीनों से सहायक कुलसचिव से लेकर उप कुलसचिव और परीक्षा नियंत्रक तक सभी से कॉलेज की तरफ से आग्रह किया गया, मगर कोई सुनवाई नहीं हो रही। ढिलाई बरतने से जेयू की छवि को तो बट्टा लग ही रहा है,वहीं जिम्मेदार अधिकारियों की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

बीएड पार्ट टाइम कोर्स की सेकंड सेमेस्टर जून 2019 की परीक्षाएं जेयू ने फरवरी 2020 में कराई थीं। इस परीक्षा में सिर्फ 12 परीक्षार्थी शामिल हुए। हर परीक्षार्थी ने चार-चार विषयों की परीक्षा थी। इस तरह कुल 48 उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराकर जेयू को रिजल्ट तैयार कर घोषित करना था। जेयू के अधिकारी चाहते तो परीक्षा के 15 दिन के अंदर ही इस छोटे के रिजल्ट को निकाल सकते थे। मगर अधिकारियों की लापरवाही का आलम यह है कि परीक्षा हुई पूरा एक साल बीत चुका है, रिजल्ट का छात्र अभी तक इंतजार कर रहे हैं। रिजल्ट कब निकलेगा, इसका अभी तक कोई अता-पता नहीं है। जून 2019 की सेकंड सेम के रिजल्ट में तो लापरवाही बरती ही गई है, वहीं बीएड पार्ट टाइम की जून 2020 की सेकंड सेम की परीक्षा के रिजल्ट में भी ऐसा ही हो रहा है। कोरोना काल में यह रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन के अंकों के आधार पर तैयार होना है। इसमें में भी केवल 31 छात्र हैं। जिनका पांच माह में भी रिजल्ट घोषित नहीं किया गया है।

पांचवें सेम का रिजल्ट भी अटका

बीएड पार्ट टाइम पंचम सेमेस्टटर की दिसंबर 2018 की परीक्षा का रिजल्ट भी अभी तक पेडिंग में डाल रखा है। इस सेम में भी केवल 25 विद्यार्थी हैं। इनका रिजल्ट सिलेबस के अनुसार प्रोजेक्ट के वर्क के आधार पर ही तैयार होना है। इसको लेकर भी अधिकारियों की लापरवाही पूर्ण रवैया बना हुआ है। छोटे से रिजल्ट निकालने में हो रही महीनों की देरी से छात्रों का सत्र पिछड़ रहा है। डिग्री डेढ़ से दो साल लेट हो रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co