Gwalior : एयर टर्मिनल निर्माण और एयर पोर्ट के विस्तार के लिए मिली 110 एकड़ जमीन
एयर टर्मिनल निर्माण और एयर पोर्ट के विस्तार के लिए मिली 110 एकड़ जमीनSocial Media

Gwalior : एयर टर्मिनल निर्माण और एयर पोर्ट के विस्तार के लिए मिली 110 एकड़ जमीन

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : महाराज पुरा क्षेत्र में राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट का विस्तार करते हुए एयर टर्मिनल बनाने का रास्ता साफ हो गया है। केन्द्रीय मंत्री तोमर ने जारी किये निर्देश।

हाइलाइट्स :

  • केन्द्रीय कृषि मंत्री तोमर के निर्देश पर मिली आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन

  • जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी को देने के लिए एनओसी जारी

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। महाराज पुरा क्षेत्र में राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट का विस्तार करते हुए एयर टर्मिनल बनाने का रास्ता साफ हो गया है। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के निर्देश पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा आलू अनुसंधान केन्द्र की 110 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया नागरिक उड्डयन मंत्रालय भारत सरकार को आवंटित करने के लिए एनओसी जारी कर दी है। जल्द ही एयरपोर्ट विस्तार का कार्य शुरू किया जायेगा।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के हॉर्टिकल्चर साइंस डिवीजन द्वारा आलू अनुसंधान केन्द्र की यह जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी को आवंटित करने के लिए एनओसी जारी करने के संबंध में ग्वालियर कलेक्टर को पत्र लिखकर सूचित कर दिया है। भारतीय कृषि अनुसंधान द्वारा ग्वालियर कलेक्टर के लिए इस आशय का एनओसी लेटर जारी कर दिया गया है। पत्र के माध्यम से भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने ग्वालियर कलेक्टर से यह भी आग्रह किया है कि एयरपोर्ट के लिये दी जा रही आलू अनुसंधान केन्द्र की 110 एकड़ जमीन के एवज में इतनी ही जमीन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद को मुहैया कराई जाए, जिससे आलू अनुसंधान केन्द्र की गतिविधियां भी बेहतर ढंग से चल सकें।

ज्ञात हो ग्वालियर के राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट के विस्तार के तहत अत्याधुनिक एयर टर्मिनल सहित अन्य निर्माण कार्य कराए जायेंगे। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा इसके लिए धनराशि भी मंजूर कर दी गई है। केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रयासों से ग्वालियर को यह बड़ी सौगात मिली है।

इस तरह चला जमीन दिलाने का घटनाक्रम :

  • राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के उड्डयन मंत्री बनते ही एयरपोर्ट विस्तार की कवायद शुरू हुई।

  • सिंधिया के निर्देश पर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा ग्वालियर का निरीक्षण किया गया।

  • एयर पोर्ट विस्तार एवं एयर टर्मिनल बनाने के लिए महाराज पुरा सहित अन्य जगहों पर दल ने जमीन देखी।

  • दल के सदस्यों को आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन ही सबसे बेहतर लगी।

  • केन्द्रीय दल ने बैठक में एयरपोर्ट एक्सटेंशन के लिए 750-750 वर्गमीटर जगह में विस्तार को लेकर मीटिंग में प्लान रखा गया था।

  • एयरपोर्ट एप्रोच रोड को फोर लेन बनाए जाने को लेकर फिजिबिलिटी चेक की जा चुकी है।

  • आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन एयरपाोर्ट के लिए सबसे मुफीद बताई गई है।

  • केन्द्रीय मंत्री के आने से पहले केन्द्र से आए दल ने प्रशासन के साथ दो दिन तक मंथन किया है।

  • निरीक्षण के बाद केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मुलाकात कर एयरपोर्ट संबंधि चर्चा की गई।

  • केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने ग्वालियर आकर आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन एवं प्रोजेक्ट देखा।

  • 9 सितम्बर को आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा उड्डयन मंत्रालय को सौपने की एनओसी जारी की गई।

इस तरह से किया जायेगा एयरपोर्ट का विस्तार :

फेस-1

  • एयरपोर्ट पर दक्षिणी तरफ बैगेज क्लेम हॉल बनाया जाना है।

  • 2 बैगेज क्लेम बेल्ट बनाने के साथ ही 4 अतिरिक्त और जोड़े जाएंगे।

  • चेकइन काउंटर और कैनोपी भी शामिल रहेंगीं।

  • 750 वर्गमीटर जगह की आवश्यकता का प्रस्ताव रखा गया था।

फेस-2

  • उत्तरी तरफ चेकइन और डिपार्चर हॉल बनेगा।

  • यात्रियोंं की चेकिंग के लिए भी यह जगह चिन्हित रहेगी।

  • सिक्योरिटी चेक के लिए बड़ा कॉमन हॉल बनेगा।

  • 750 वर्गमीटर जगह की आवश्यकता का प्रस्ताव रखा गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co