Gwalior : एसडीएम का आश्वासन पिछला बकाया भी मिलेगा पर आप बसें चुनाव में दें
एसडीएम ने की बस ऑपरेटरो के साथ बैठकसांकेतिक चित्र

Gwalior : एसडीएम का आश्वासन पिछला बकाया भी मिलेगा पर आप बसें चुनाव में दें

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : बस ऑपरेटरो के साथ एसडीएम ने दो बार की बैठक। पिछला पैसा नहीं मिलने से ऑपरेटरो ने बसें देने से कर दिया था इंकार।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। चुनाव में वाहन व्यवस्था कराने की जिम्मेदारी आरटीओ के पास रहती है, लेकिन जब चुनाव में लगाए हुए वाहन का पैसा संबंधित को नहीं मिलता तो फिर अगले चुनाव में वाहन देने में ऑपरेटर आनाकानी करते हैं। वैसे चुनाव अतिआवश्यक सेवा में आता है ऐसे में कोई वाहन देने से मना करता है तो प्रशासन वाहन को अधिग्रहित कर सकता है। ऑपरेटरों ने जब पिछला बकाया देने का मांग रखी तो एसडीएम ने दो बार ऑपरेटरो के साथ बैठक कर यह आश्वासन दिया कि पिछला बिल भी बनाकर एक साथ दे देना दोनों का भुगतान कराने की जिम्मेदारी हमारी रहेगी।

चुनाव के समय जो वाहन लिए जाते हैं उनमें डीजल को प्रशासन की तरफ से भरवाया जाता है तथा जो किराया होता है वह बाद में दिया जाता है। पिछले उप चुनाव के समय करीब 350 बसें चुनावी कार्य के लिए अधिग्रहित की गई थीं, लेकिन उन बस ऑपरेटरों को अभी तक पैसा नहीं मिला था। पैसो की मांग को लेकर कई बार बस ऑपरेटरो ने आरटीओ से कहा तो आरटीओ ने इस बात से प्रशासन को अवगत करा दिया था,लेकिन उसके बाद भी बसों के किराए का भुगतान नहीं किया गया था। अब पंचायत व नगर निगम के चुनाव आ गए तो फिर वाहनो की जरूरत पड़ गई। प्रशासन ने आरटीओ से करीब 250 वाहनों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। निर्देश मिलते ही आरटीओ ने बस ऑपरेटरो को नोटिस भेजकर उनसे बसें मांगी हैं। जब आरटीओ का नोटिस बस ऑपरेटरो के पास पहुंचा तो उन्होंने आरटीओ से कह दिया कि आपके कहने पर बस उपलब्ध कराते हैं इसलिए पैसा पहले का नहीं मिला तो इस बार बस देने में दिक्कत होगी। आरटीओ ने इस बात से प्रशासन को अवगत कराते हुए कहा कि हर कार्यक्रम के लिए बसें मिल जाती है ऐसे में पुराना बकाया बस ऑपरेटरो को अभी तक नहीं मिला है तो बस ऑपरेटर आनाकानी कर रहे है। आरटीओ की बात सुनकर प्रशासन की तरफ से एसडीएम को बस ऑपरेटरो से बात करने के लिए लगाया। एसडीएम प्रदीप तोमर ने बस ऑपरेटरो के साथ पहली बैठक की जिसमें उन्होंने बस ऑपरेटरो को समझाने का काम किया, लेकिन एसडीएम प्रदीप तोमर की माताजी के देहांत होने के कारण यह जिम्मेदारी एसडीएम अनिल बनवारिया संभाली। बनवारिया ने बस ऑपरेटरो की बैठक लेकर उनको भरोसा दिलाया कि आपका पिछला बकाया भी दिया जाएगा और चुनाव बाद पिछला बिल भी इसी बिल के साथ लगा देना उसका भुगतान कराने की मेरी जिम्मेदारी रहेगी। एसडीएम के इस आश्वासन पर बस ऑपरेटरो ने चुनाव में बसे उपलब्ध क राने की हामी भर ली।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co