Gwalior : अटेण्डर की डॉक्टर को धमकी, अगर ये मर गया तो तू जिंदा नहीं रहेगा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : जिला अस्पताल मुरार में मरीज के अटेण्डरों ने डॉक्टर से की मारपीट। एक्सीडेंट का केस जेएएच रैफर करने पर हुआ विवाद।
Gwalior : अटेण्डर की डॉक्टर को धमकी, अगर ये मर गया तो तू जिंदा नहीं रहेगा
अटेण्डर की डॉक्टर को धमकी, अगर ये मर गया तो तू जिंदा नहीं रहेगाRaj Express

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। जिला अस्पताल के चिकित्सक को एक मरीज को रैफर करना भारी पड़ गया। चिकित्सक ने मरीज की इमरजेंसी सर्जरी कराने की सलाह देते हुए जेएएच के लिए रैफर किया तो अटेण्डर भड़क गए। उन्होंने डॉक्टर के साथ मारपीट कर दी और धमकी दी कि अगर ये मर गया तो तू जिंदा नहीं रहेगा। अटेण्डरों की धमकी और मारपीट की घटना के बाद चिकित्सक ने मुरार थाना में एफआईआर दर्ज करा दी है। एफआईआर के बाद पुलिस ने तीन लोगों को पकड़ लिया है।

जिला अस्पताल मुरार में शनिवार-रविवार की देर रात्रि डॉ. अमर शर्मा निवासी शीतला कॉलोनी की इमरजेंसी ड्यूटी कर रहे थे। डॉ. अमर इमरजेंसी रूम में ही बैठे थे रात 12 बजे के लगभग तीन से चार लोग एक घायल मरीज को लेकर आए। मरीज रामदुलारे सिंह सड़क हादसे में घायल हुए थे। बाएं पैर में चोट थी। डॉ. अमर शर्मा ने देखा तो पैर फैक्चर साफ नजर आ रहा था। साथ ही इंटरनल ब्लीडिंग होने के भी आशंका थी। उन्होंने तत्काल प्राथमिक उपचार दिया। इसके बाद मरीज को जेएएच रैफर कर दिया। उनका मानना था कि इंटरनल ब्लीडिंग के कारण कुछ देर में जान पर भी बन सकती थी। इसीलिए उन्होंने तत्काल इमरजेंसी सर्जरी कराने की सलाह देते हुए जेएएच के लिए रैफर कर दिया। इस पर मरीज के परिजन नाराज हो गए। उस समय तो वहां से चले गए। करीब आधा घंटा बाद मरीज को फिर वहीं वापस लेकर 15 से 20 लोग अस्पताल में आ गए। वह वहीं इलाज करने पर अड़े हुए थे। इसके बाद डॉ.अमर ने विरोध किया तो हमलावरों ने उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। किसी ने कॉलर पकड़ी तो किसी ने सिर में घूसे मारने शुरू कर दिए। इससे डॉ.अमर जमीन पर गिर पड़े तो हमलावरों ने लातें भी मारीं। इसी बीच चिकित्सक ने भागकर अपनी जान बचाई और मुरार थाना टीआई को उक्त घटना की जानकारी दी। जानकारी मिलते ही मुरार थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने तीन हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया।

इन्हें किया गिरफ्तार :

पुलिस ने डॉक्टर के साथ मारपीट करने वाले 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है । उनकी पहचान रामप्रसाद चौहान, तेज सिंह, मनीष व रामवीर के रूप में हुई है।

इनका कहना है :

हां, मरीज को रैफर करने पर कुछ लोगों ने डॉ. अमर पर हमला कर दिया। पुलिस में एफआईआर दर्ज करा दी है। पुलिस ने कुछ लोगों को मौके से पकड़ भी लिया था।

डॉ.राजेश शर्मा, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल मुरार

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co