कैज्युअल्टी के सामने वाला बंद गेट
कैज्युअल्टी के सामने वाला बंद गेटRaj Express

Gwalior : ठेकेदार ने प्रबंधन को बिना बताए किया गेट बंद, अस्पताल में लगने लगा जाम

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : जयारोग्य अस्पताल में आरएफआईडी पार्किंग सिस्टम जब से लागू हुआ है। वह तभी से विवादों में घिरा हुआ है। गत दिवस लगातार तीन दिन विवाद हुआ।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। जयारोग्य अस्पताल में पार्किंग का ठेका संभालने वाले ठेकेदार ने जेएएच प्रबंधन को बिना बताए ही अस्पताल का एक गेट बंद कर दिया। गेट बंद होने से वहां से गुजरने वाले चिकित्सक, मरीज और उनके अटेंडरों को अस्पताल में प्रवेश करने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ी, क्योंकि पार्किंग की पर्ची कटने में समय लग रहा था। इस वजह से अस्पताल में जाम के हालात निर्मित होते दिखाई दिए। पार्किंग व्यवस्था में सुधार लाने के लिए जेएएच अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ ने शुक्रवार को पार्किंग ठेकेदार कुलदीप सिंह राजावत को बुलाया है।

जेएएच में पार्किंग का ठेका जेडी क्लीन टेक फर्म के संचालक कुलदीप सिंह राजावत के पास है। गुरूवार को पार्किंग ठेकेदार ने जेएएच प्रबंधन को बिना बताए ही माधव डिस्पेंसरी के सामने बने मुख्य द्वार (कैज्युअल्टी के सामने वाला) में से एक गेट बंद कर दिया है। इससे गुरूवार को माधव डिस्पेंसरी के दो गेट में से सिर्फ एक गेट से ही प्रवेश एवं निकास हुआ। इससे अस्पताल में आने-जाने वाले चिकित्सक से लेकर मरीज और उनके अटेंडर परेशान दिखाई दिए, क्योंकि पार्किंग की पर्ची कटने में समय लग रहा था। इस वजह से अस्पताल में जाम के हालात निर्मित होते दिखाई दिए।

क्या कहते हैं पार्किंग ठेकेदार :

जेडी क्लीन टेक फर्म के संचालक कुलदीप सिंह राजावत (जेएएच पार्किंग ठेकेदार) का कहना है कि हां गुरूवार को एक गेट बंद रखा था। परसों से हम उसे खोल देंगे।थोड़ा बहुत जमा लग गया होगा। प्रबंधन को हमारा मैंनेजर नहीं बता पाया होगा। मैं उससे बात करता हूं और प्रबंधन को अवगत कराने के लिए कहता हूं। हालांकि शुक्रवार को अक्षीक्षक ने मुझे बुलाया है। हम बैठक कर कोई न कोई तोड़ निकाल लेंगे। हजार बिस्तर में ओपीडी शिफ्ट होने से हमें विवादों से राहत मिल जाएगी।

पार्किंग की कतार में खड़ी गाड़ियां, जाम लगता हुआ
पार्किंग की कतार में खड़ी गाड़ियां, जाम लगता हुआRaj Express

विवादों के चलते किया गेट बंद :

जयारोग्य अस्पताल में आरएफआईडी पार्किंग सिस्टम जब से लागू हुआ है।तभी से वह विवादों में घिरा हुआ है। गत दिवस लगातार तीन दिन विवाद हुआ था। उसके बाद ठेकेदार ने एक दिन के लिए पार्किंग बंद रखी और सभी को नि:शुल्क प्रवेश मिला। बुधवार से फिर पार्किंग शुरू हो गई। अब एक गेट बंद करने पर बवाल खड़ा हो रहा है।

विवाद होने की यह हैं मुख्य वजहें :

  • अस्पताल के मुख्य द्वार पर ही लोगों से पार्किंग शुल्क लिया जा रहा है। लेकिन पार्किंग शुल्क के हिसाब से सुविधा मुहैया नहीं हो रही हैं। कोई भी कहीं भी गाड़ी पार्क कर रहा है। इससे सभी को परेशानी हो रही है।

  • मरीज-अटेण्डर को खाना देने जाने-उससे मिलने जाने के लिए भी पार्किंग शुल्क लोगों को देना पड़ रहा है।

  • पार्किंग कर्मचारियों का लोगों से बात करने का रवैया ठीक नहीं है।

इनका कहना है :

कैज्युअल्टी के सामने वाला गेट कब बंद कर दिया गया इसकी जानकारी मुझे नहीं है। मैंने शुक्रवार को पार्किंग ठेकेदार को बुलाया है। पूरा मामला देखता हूं और जो अच्छे से अच्छा होगा वह निर्णय लिया जाएगा। ओपीडी यहां से शिफ्ट होने के बाद इन मुश्बितों से छुटकारा मिल जाएगा।

डॉ. आरकेएस धाकड़, अधीक्षक, जयारोग्य अस्पताल समूह

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co